Water Pollution In Hindi। जल प्रदूषण

Water Pollution In Hindi। जल प्रदूषण

Water pollution in hindi:

हेलो दोस्तों कैसे हो आप लोग आशा करता हूं ठीक होंगे आज फिर मैं आप सबके लिए इंट्रस्टिंग पोस्ट Water pollution in hindi। जल प्रदूषण लेकर आया हूं। और आज हम water pollution के बारे में पूरी जानकारी इस पोस्ट में प्राप्त करेंगे।।

दोस्तों water pollution हमारे देश के लिए यह बहुत बड़ा खतरा हो चुका है क्योंकि आने वाले समय में पानी की भारी मात्रा में किल्लत हो सकती है क्योंकि आज हम पानी को नहीं बचा रहे हैं और जल को व्यर्थ बहाने के साथ-साथ उसे दूषित भी कर रहे हैं जिसकी वजह से भविष्य में हमें पीने के लिए पानी तक नहीं मिलेगा आज हम जिस पान की कीमत नहीं समझ रहे हैं भविष्य में जाकर हमें उसके लिए एक बूंद केलिए तरसना पड़ेगा इसीलिए आपको पानी की कीमत समझना चाहिए और आज हम इसी विषय Water pollution in hindi जल प्रदूषण पर विस्तार से चर्चा करेंगे।।

इन्हें भी पढ़े
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
जीवन का लक्ष्य निबंध
प्रदूषण पर निबंध
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ पर निबंध

Water pollution in hindi। जल प्रदूषण

Water pollution in hindi। जल प्रदूषण

1. Water pollution क्या होता है

अगर हम वाटर पोलूशन को विस्तार में समझना चाहे तो हम यह कह सकते हैं कि वाटर पोलूशन इंसानों के द्वारा ही फैलाया जा रहा है क्योंकि आजकल नदियां इतनी दूसरे पर प्रदूषित हो रही है कि हम उनका पानी भी नहीं पी सकते हम उनमें कई तरह के रासायनिक पदार्थ छोड़ रहे हैं जिनकी वजह से हमें और प्रकृति को बहुत नुकसान हो रहा है वाटर पोलूशन एक ऐसी समस्या है जो कि वैश्विक स्तर पर बढ़ती जा रही है और अगर इसका समाधान नहीं किया तो यह आगे चलकर एक महा विशाल समस्या का रूप ले सकती है।।

उद्योगों से निकलने वाला रासायनिक पदार्थ और मल पदार्थ जो नदियों में प्रवाहित किए जाते हैं और हमारे द्वारा उन्हें गंदी चीजें प्लास्टिक और पॉलिथीन छोड़ी जाती है उनकी वजह से जल प्रदूषण हो रहा है और हमें इसे रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाने चाहिए सरकार ने भी इसके लिए लिए बहुत सारी योजनाएं चलाई हैं पर उनका भी फायदा नहीं हुआ है क्यूंकि जब तक इंसान नहीं चाहेगा जल प्रदूषण को जड़ से खत्म नहीं कर सकते है।

पढ़े: दिवाली पर निबंध

2. जल प्रदुषण कैसे होता है

अब आपको यह समझने की जरूरत है कि आखिर जल प्रदूषण होता कैसे हैं जल प्रदूषण का सबसे मुख्य कारण है अनर्गल प्रधान नदियों में बहा देना जो कि इंसान के द्वारा ही किया जा रहा है जो चीज हमारे काम में नहीं आती हम उन्हें नदी में बहा देते हैं जैसा कि आपने सुना होगा गंगा नदी और यमुना नदी में बहुत सारे ऐसे पदार्थ हैं जो कि उसके जल को प्रदूषित कर रहे हैं और ऐसा माना जाता है कि वहां पर लोगों ने उसको इतना अपवित्र और इतना प्रदूषित कर दिया है कि उसका पानी पीने लायक नहीं रहा है और ये सब इंसानों की वजह से ही हुआ है

हमें जल प्रदूषण के बारे में यह समझने की जरूरत है कि जल प्रदूषण उद्योगों से और उनसे निकलने वाले रासायनिक सामानों से जो नदियों में प्रवाहित किया जा रहा मल और कपड़े धोने से भी जल प्रदूषण होता है।।

पढ़े: ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध

3. जल प्रदूषण को रोकने के उपाय

अब सबसे बड़ा सवाल ही आता है कि आखिर हम जल प्रदूषण को कैसे रोक सकते हैं हमें जल प्रदूषण को रोकने के लिए क्या करना चाहिए क्योंकि अगर जल प्रदूषण को समय पर नहीं रोका गया तो आने वाले समय में पानी की भारी परेशानी का हमें सामना करना पड़ सकता है क्योंकि पृथ्वी में 75% भाग पर पानी है जो कि पीने लायक नहीं है और सिर्फ 2% पानी ही पीने लायक बचा है और अगर हमने उसका सही तरह से ख्याल नहीं रखा और उसका सही तरह से उपयोग नहीं किया तो हो सकता है भविष्य में हमें पीने के लिए पानी भी ना मिले

हमें जल प्रदूषण को रोकने के लिए सबसे पहले तो खुद की आदतों में सुधार लाना होगा हमें कोई भी प्लास्टिक और पॉलीथिन की थैली कहीं भी नहीं फेंक नहीं होगी क्योंकि यह थैलियां अंत में जाकर नदियों में ही मिलती है और जिन से जल प्रदूषित होता है गांव में अभी भी बहुत से लोग नदियों में शौच करने जाते हैं और जिसकी वजह से जल प्रदूषण हो रहा है रासायनिक उद्योगों पर रोकथाम लगानी होगी और सरकार को भी इसके लिए कड़े कदम उठाने होंगे तभी हम जल प्रदूषण जैसी भारी समस्या से निजात पा सकते हैं

इसके अलावा हमें खुद के स्तर पर प्रयास करना चाहिए हमें ऐसे कई ग्रुप्स बनाने चाहिए और समय-समय पर नदियों की साफ सफाई पर ध्यान देना चाहिए वहां जाकर  प्लास्टिक और पॉलिथीन के लिए अलग से जगह बनाना चाहिए ताकि जो लोग वहां पर घूमने जाते हैं वह अपने गंदे सामान और थैलियां वहां पर डाल सकें हमें समय-समय पर नदियों की सफाई के लिए योजनाएं और कार्यक्रम चलाना चाहिए और ज्यादा से ज्यादा लोगों को उनसे जुड़ने के लिए प्रेरित करना चाहिए ताकि हम नदियों के पानी के साथ-साथ भविष्य में आने वाली पीढ़ी के लिए भी जल को संरक्षित कर सके ।।

पढ़े: होली पर निबंध

4. जल प्रदूषण से होने वाले नुक्सान

अब हमें यह जानने की जरूरत है कि आखिर जल प्रदूषण से होने वाले को नुकसान कौन से हैं जिनकी वजह से हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ हमारी प्रकृति को भी बहुत अधिक मात्रा में खतरा हो सकता है क्या आप यह जानते हैं कि जल प्रदूषण से हमें वह सारे नुकसान हो सकते हैं

जिस जल को हम प्रदूषित करते हैं वही जल हमारे पीने के काम आता है और अगर हम प्रदूषित जल को पीते हैं तो हमारे अंदर ऐसी बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं जिनका इलाज करा पाना असंभव सा प्रतीत होता है और इसके साक्ष्य और प्रमाण समय-समय पर विज्ञान दे चुका है अगर हमने जल को संरक्षित नहीं किया और जल को प्रदूषित होने से नहीं बचाया तो हमारे अंदर बहुत सारी ऐसी बीमारियां जन्म ले लेगी जिनका इलाज और जिन से निजात पाना हमारे लिए आसान नहीं होगा

जल प्रदूषण का सबसे बड़ा खतरा ग्लोबल वॉर्मिंग पर पड़ता है क्योंकि नोबेल वॉर्मिंग कहीं ना कहीं जल प्रदूषण से भी प्रभावित होती है आज हम जल को इसी तरह प्रदूषित करते रहेंगे तो हर जगह हमें प्रदूषित जल ही मिलेगा और 1 दिन ऐसा आएगा जब हमारे पास पीने के लिए भी पानी नहीं होगा और यही जल प्रदूषण का एक सबसे बड़ा नुकसान है क्योंकि हम पानी के बिना जीवित नहीं रह सकते हैं और अगर पृथ्वी पर पीने लायक जल ही नहीं बचा तो पेड़ पौधों के साथ-साथ जीव जंतु भी मर जाएंगे

पढ़े: प्रदूषण पर निबंध

5. उपसहार

आज हमने जल प्रदूषण के बारे में विस्तार से चर्चा की है और जल प्रदूषण को रोकने के साथ-साथ जल प्रदूषण क्या होता है और हमें उसके लिए क्या योजनाएं बनाने चाहिए उसके लिए भी हमने आज विस्तार से जाना है आखिर हम यह सब कर लेते हैं तो हम जल प्रदूषण को रोकने में सफल हो सकते हैं।।

क्योंकि यह एक वैश्विक समस्या है और इसके लिए सभी देशों को मिलकर प्रयास करना चाहिए पर भारत जल प्रदूषण में सबसे पहले आता है क्योंकि भारत में कोई भी जल का महत्व अभी तक नहीं समझता है लोग जल को अभी तक व्यर्थ ही रहते हैं इसीलिए हमें उनको जल का महत्व समझाना होगा और जल को प्रदूषित होने से बचाना होगा ताकि आने वाले समय में और आने वाले भविष्य में हमें जल जैसी महान वैश्विक समस्या का सामना ना करना पड़े।।

मित्रता पर निबंध

6. अंतिम शब्द

दोस्तों मैं आशा करता हूं आपको हमारा आज का लेख Water pollution in hindi। जल प्रदूषण जरूर पसंद आया होगा अगर आप जल प्रदूषण निबंध लिखना चाहते हैं या जल प्रदूषण के बारे में जानना चाहते हैं तो मैं आशा करता हूं कि आपको इससे बहुत मदद मिली होगी अगर आप इस पर निबंध लिखना चाहते हैं तो आप इसकी मदद से आसानी से अपना निबंध तैयार कर सकते हैं और आपको भी यह संकल्प लेना होगा कि आप जल प्रदूषण को रोकने में भारत की और आम इंसान की मदद करेंगे

अगर आपको यह अच्छा लग रहा हो तो आप इसे अपने दोस्तों परिवार और मित्रों के साथ जरूर शेयर करें और ऐसे ही इंटरेस्टिंग आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग पर विजिट करते रहें पूरा आर्टिकल Water pollution in hindi। जल प्रदूषण और लेख पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।।

Tage: Water pollution in hindi। जल प्रदूषण

एक टिप्पणी भेजें

Do not enter any spamming comment