Beti bachao beti padhao essay in hindi। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध

Beti bachao beti padhao essay in hindi। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध

essay on beti bachao beti padhao in hindi:

हेलो दोस्तों कैसे हो आप लोग मैं आशा करता हूं कि आप सब ठीक होंगे पानी फिर आपके लिए एक इंटरेस्टिंग आर्टिकल लेकर आया हूं जिसमें हम आज beti bachao beti padhao in hindi के बारे में बात करने वाले हैं और इसके ऊपर हम एक विस्तृत निबंध लिखने वाले हैं इसमें हम आपको
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे।

यह बात तो आप सभी जानते हैं कि लड़कियां हर क्षेत्र में आजकल लड़कों से आगे निकल रहे हैं तो इसीलिए हमें बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ पर ध्यान देना चाहिए और इस अभियान का ज्यादा से ज्यादा हिस्सा बनना चाहिए क्योंकि बहुत से लोग आज भी बेटियों को मार देते हैं। और वह पढ़ नहीं पाती या फिर उन्हें वह पढ़ाते नहीं है और वह पढ़ाई से वंचित रह जाती है इसी बारे में आवाज विस्तृत निबंध लिखने वाले हैं तो चलिए शुरू करते हैं।

Beti bachao beti padhao per nibandh:

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध, Beti bachao beti padhao per nibandh, Beti bachao beti padhao essay in hindi, essay on beti bachao beti padhao in hindi

1.प्रस्तावना: 

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि बेटियां तो भगवान का रूप होते हैं और उनके होने से ही हमारे घर में हमेशा रोनक रहती है पर आज भी कुछ लोग बेटियों को पढ़ाते नहीं है वह सिर्फ उन्हें घर का काम काज करने के लिए कहते हैं वह समझते हैं कि बेटियां तो सिर्फ घर का कामकाज करने के लिए ही होती है और वह इसीलिए उनकी पढ़ाई को रोक देते हैं और सिर्फ उनसे घर का काम ही करवाते हैं।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान सरकार के द्वारा इसीलिए शुरू किया गया है ताकि जो लड़कियां शिक्षा से वंचित हैं उन्होंने शिक्षा दी जाए और जो उन्हें ढूंढने ही मार देते हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए ताकि वह भी इस दुनिया में आप आए और इस दुनिया को देख पाए और अपने सपनों को उड़ान दें और अपने सारे सपने को पूरा कर पाए

पर क्या लोग आज भी इस बात को समझ रहे हैं और क्या वह इस बात पर ध्यान दे रहे हैं इस मुद्दे पर बात करने की हमें बहुत ज्यादा आवश्यकता है क्योंकि अगर लड़कियां ही नहीं रहेंगी तो आप अपने घर में बहू बेटियां कहां से लाएंगे और भारत में पुरुष प्रधान समाज होने के कारण लड़कियों की दर घटती चली जा रही है इसके पीछे का कारण यही है कि लड़कियों को लोग जीने नहीं देते और उन्हें जून में ही मार देते हैं वैसे तो यह परंपरा धीरे-धीरे खत्म हो रही है पर अभी तक कुछ प्राचीन गांव में इन मुद्दों पर बात नहीं की जाती है और वह आज भी पिछड़े ही रह जाते हैं वहां आज ही लड़कियों को शिक्षा के लिए बाहर नहीं भेजा जाता है और उन्हें सिर्फ घर का काम ही सिखाया जाता है

2. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान

लड़कियां जो कि हमारे समाज का एक अभिन्न अंग है और जिनके बिना समाज की कल्पना करना भी व्यर्थ है इन लड़कियों को लोग घूमने मार देते हैं और उन्हें आगे पढ़ने के लिए बिल्कुल भी छूट नहीं देते हैं इसीलिए सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का अभियान शुरू किया है पूरी अभियान बहुत ही जोरों शोरों से चालू हो रहा है सभी महाविद्यालय और विद्यालय और विज्ञापन वाले इस अभियान को पढ़ाने के लिए प्रोत्साहन भी दे रहे हैं बाकी लोग बेटियों को पढ़ाएं सरकार इसके लिए बहुत सारी छात्रों की भी देती है ताकि लोगों के लिए अपनी बेटियों को पढ़ाने का सपना पूरा हो क्योंकि बहुत से परिवार आज भी ऐसे हैं जो पैसों की कमी होने के कारण अपनी बेटियों को पढ़ा नहीं पाते हैं इसीलिए सरकार ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की इसके अंतर्गत सरकार सभी को शिक्षा का समान अधिकार देती है और सभी को पढ़ने के लिए प्रेरित करती है।।

आखिर हमें एक बात आज तक समझ नहीं आती कि हम बेटियों को पढ़ने से क्यों रोकते हैं क्योंकि बेटियां ही यह संसार का निर्माण करती है अगर बेटियां नहीं होंगी तो यह संसार ही नहीं होगा। पर लोग आज भी इस बात को समझने के लिए तैयार नहीं है और वह आज भी बेटियों को आगे पढ़ने नहीं देते हैं क्योंकि उनकी नजर यह में पढ़ना लिखना कुछ भी नहीं होता है पढ़ना लिखना सीख लड़कों का अधिकार होता है पर सरकार इसके लिए बहुत ही पड़े नियम कायदे और कानून बना रही है ताकि सभी को शिक्षा का समान अधिकार मिले और सभी इससे वंचित ना रह पाए

3. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना

जनगणना और सर्वे में मिले रहे आंकड़ों से यह साफ जाहिर होता है कि लड़कियों की जन्म दर लड़कों की जन्म दर की अपेक्षा बहुत ही कम है जिससे इस बात का पता लगता है कि आज भी लड़कियों को ढूंढने मारा जा रहा है और मैंने इस दुनिया में आने से पहले ही उनकी हत्या की जा रही है और भी बहुत से कारण हो सकते हैं जिनके के कारण हत्या को बढ़ावा दिया जा रहा है

सरकार इन सबके लिए बहुत सारी कदम उठा रही है और सरकार ने इसके लिए बहुत सारे नियम कायदे और कानून भी बनाए हैं जिनके चलते अब इन सब में रुकावट और कमी आई है पर आखिर हमें ही इस समय सुधार लाना होगा क्योंकि जब तक हम नहीं चाहेंगे हम कुछ भी कर नहीं सकते क्योंकि इंसान चाहे तो कुछ भी कर सकता है और अगर वह चाहे तो किसी को भी अपने अनुरूप बना सकता है।।

4. हमारी भागीदारी

हमें यह सब रोकने के लिए समाज में जागरूकता लानी होगी और सभी को इसके लिए प्रेरित करना होगा ताकि सभी अच्छे से समझ रहे और अच्छे से अपने काम को करें और सभी अपनी जिंदगी में बेटियों का महत्व समझे उनकी उनके बिना इस संसार की तक ना करना बहुत ही मुश्किल है।।

आखिर हम लड़कियो को पढ़ने क्यों नहीं देते हैं वैसे भी आजकल लड़कों से ज्यादा लड़कियां हर क्षेत्र में अपना नाम तुम्हारा ही है लड़कियां राजनीति से लेकर वायु सेना तक हर जगह बनाते हैं और पढ़ाई में भी उनके बराबर कोई नहीं है फिर भी लोग इस बात को समझ नहीं पाते हैं कि लड़कियों को पढ़ने देना चाहिए लड़कों की तरह वह भी आप का नाम रोशन कर सकती है और आपके लिए गर्व का विषय बन सकती है।।

हम सब एक बार सोच ले तो हम इस काम को बहुत ही आसानी से कर सकते हैं क्योंकि जब तक इंसान खुद से बदलाव नहीं लाएगा तब तक सरकार कितने भी कानून बना ले पर इसे रोक नहीं पाएगी क्योंकि सरकार सिर्फ कानून बना सकती है पर उस कानून का पालन करना हमारे ऊपर निर्भर करता है

इसीलिए बेटियों की इस दयनीय स्थिति को देखते हुए हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान की शुरुआत की इसके अंतर्गत सभी छात्राओं और लड़कियों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जाएगा और उनके परिवार को इस में कोई परेशानी है तुमको छात्रवृत्ति कितनी जाएगी ताकि कोई भी यह ना कह सके कि उनके पास पैसे नहीं थे और इसीलिए इस योजना की शुरुआत की गई है।।

इसीलिए आप भी सब इस योजना में सरकार का साथ दें उनकी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाएं और खुद भी यह संकल्प लें कि आप बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना में सरकार का साथ देंगे और हमेशा अपने आसपास की लड़कियों को पढ़ने के लिए प्रेरित करेंगे और खुद अपने घर की बेटियों को भी बहुत पढ़ाई में आगे जाकर आपका नाम रोशन कर सकें

5. उपसंहार

इस बात का अगर हम निष्कर्ष निकालना चाहे तो यही निकलता है कि हमें बेटियों को पढ़ाना चाहिए और हमें उन्हें शिक्षा के सारे साधन उपलब्ध जलाने चाहिए जिससे कि वह अच्छी से अच्छी उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकें वह अपने सारे सपनों को पूरा कर सकें पर बेटियों को पढ़ाने से पहले हमें उनकी रक्षा करनी होगी।।

क्योंकि यह तो आप सब ने देखा होगा कि आज भी भ्रूण हत्या के मामलों में भारत सबसे पहले आता है सरकार ने इसके लिए कितने भी कानून बना दिए हैं लेकिन फिर भी आज चोरी छुपे वह अपराध किया जा रहा है और इस अपराध को रोकने के लिए नहीं आगे आना होगा और हमें सजगता दिखानी होगी क्योंकि जब तक हम कुछ नहीं करेंगे कोई भी इसे बदल नहीं सकता है।।

तो आज से आपको बस यही संकल्प लेना है कि आपको हमेशा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान का हिस्सा बनना है और उसका साथ देना है ताकि अधिक से अधिक लोगों तक यह ज्ञान पहुंच सके और सब इस से जुड़ सकें और सारी लड़कियों को शिक्षा प्राप्त हो सके।।

दोस्तों मैं आशा करता हूं आपको हमारा आज का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध जरूर पसंद आया हुआ आप इसके अनुसार अपना ही कट से निबंध तैयार कर सकते हैं जो कि आप खुद बहुत ही आसानी से कर पाएंगे इसमें जितना हो सकता है मैंने अपनी तरफ से सारी जानकारी उपलब्ध कराने की कोशिश की है अगर फिर भी आपका कोई सवाल हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं मैं उसका जवाब जल्द से जल्द देने की कोशिश करूंगा ऐसे ही अच्छे-अच्छे आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉक पर लगातार विजिट करते रहे।।

Tage: बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ निबंध, Beti bachao beti padhao per nibandh, Beti bachao beti padhao essay in hindi, essay on beti bachao beti padhao in hindi

यह भी पढ़े:
जल प्रदूषण पर निबंध
होली पर निबन्ध
दीपावली पर निबंध
ग्लोबल वार्मिग पर निबन्ध


Tags

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.