Sad love story in hindi। Sad hindi love story (दुःख भरी कहानी)

Sad love story in hindi। Sad hindi love story

hindi sad love story:

आज मै आप सबके लिए एक बहुत ही अच्छी कहानी Sad love story in hindi। Sad hindi love story लेकर आया हूं जिसे पढ़कर आप बहुत ज्यादा खुश हो जाएंगे क्युकी ये कहानी आपको एक अलग ही दुनिया की सैर करवा देगी इसमें प्यार है केयर है लव है एक्शन है कुल मिलाकर इसमें सब है आप इस कहानी को जरुर पढ़े!!

इन्हें भी पढ़े:
Sad love story (दुःख भरी प्रेम कहानी)
Love story in Hindi ( मीरा और एसीपी कबीर )
Short Love story in hindi (मेरी मोहब्बत)
True love story in hindi ( ये प्यार है)

Sad love story in hindi। Sad hindi love story

Sad love story in hindi। Sad hindi love story

1. very sad love story in hindi

                       (भाग - 1)

पता नहीं ये लड़की कब आयेगी कितनी देर करोगी बेटा जल्दी आओ ट्रेन छूट जाएगी वरना। अरे मां आ रही हूं बस थोड़ी देर में। सब एक लड़की का बाहर इंताज़र कर रहे थे।

देख लो आपकी बेटी सुनती कहां है किसी की आपने ही बिगाड़ा हुआ है इसको,, अरे बेटा सिया,, हा पापा आ रही हूं।

और वो थोड़ी देर में बाहर आ जाती है, बड़ी बड़ी आंखें, घुंघराले बाल, कानों में झुमके ,सुन्दर नाक नक्श, और ब्लैक ड्रेस में वो कमाल की लग रही थी कोई देखे तो बस देखता ही रह जाए।

हा पापा आ गए हम , अरे बेटा तेरी मम्मी ही कह रही थी कि आपने ही बिगाड़ा हुआ है इसको,, हा तो सही ही तो बोल रही थी , कुछ नहीं कहोगी तुम मेरी प्यारी बेटी को ,, दीदी ट्रेन छूट जाएगी चलो ना अब ,, हा हा चलो चलो बेटा टाइम हो रहा है।

और वो सब गाड़ी में बैठ जाते है,, दीदी आप जा रहे हो मुझे आपकी याद आयेगी,, अरे मै कोई हमेशा के लिए थोड़े ही जा रही हो आ जाऊंगी थोड़े दिनों में अब तू इमोश्नल मत हो ,,लो स्टेशन आ गया।

और वो सब अंदर जाते है,, तभी स्पीकर की आवाज आती है बाड़मेर से दिल्ली जाने वाली ट्रेन कुछ ही समय में प्लेटफार्म नंबर 1 पर आने वाली है।

लो बेटा ट्रेन आ गई ये रहा तुम्हारा टिकट,, बेटा अच्छे से जाना और पहुंचते ही कॉल करना वहा जाते है तेरे चाचा आ जाएंगे तुझे लेने,,अरे मां हम जा रहे और आप उदास हो रहे हो ,, हम हमारे पापा की बेटी है हम सब संभाल सकते है क्यों पापा ,, हा हमारी बेटी सब संभाल सकती है,, बस हमें अपना ड्रीम पूरा करना और इसलिए हम आप सबसे दूर जा रहे है।

दीदी आप कब आओगे,, अरे जल्दी ही आ जाऊंगी तू अच्छे से पढ़ाई करना ठीक है और वो सबको गले लगा लेती है इतने में ही ट्रेन भी आ जाती है,, लो पापा ट्रेन भी आ गई है।

और वो सबको खिड़की से बाय बोल रही थी ,, घर से दूर जाने का दुख़ सिया को भी था,, और ट्रेन चल पड़ती है।

राजस्थान" जयपुर"

अरे नालायक कहां रह गया आना फिर कहेगा ट्रेन छूट गई आ गया पापा" मम्मी देखो पापा मुझे ऐसे ही बोलते है,, हा तो तू काम ही ऐसे करते है,, मां आप भी अब।

अच्छा जय बेटा " जय दिखने में हैंडसम और नेचर मै एक दम शांत स्वभाव वाला लड़का पर एक दम कूल ड्यूड और उसका मजाकिया अंदाज " ध्यान रखना और अच्छे से पढ़ाई करना पहुंचते ही कॉल कर देना ,, जी पापा ।

मेरा बेटा कैसे रहेगा अकेला वहां पर कभी नहीं रहा ये तो,, अरे मां आप मेरी टेंशन मत करो आप सब अपना ख्याल रखना,, और आप घर जाओ में बैठ जाऊंगा दीदी की तबीयत खराब है ना उनको कहना मै जल्दी ही आऊंगा ,, हा बेटा और सब उसको गले लगाकर घर की तरफ निकल जाते है।

चलो सब तो गए ट्रेन आने में अभी टाइम है क्यों ना घूम लिया जाए,, और वो बाहर चला जाता है ,, और तभी अनाउसमेंट होता है कि ट्रेन आ चुकी है और जैसे ही उसको पता चलता है वो फटाफट भागता है ट्रेन की तरफ।

और इसी जल्दीबाजी मै एक लड़की से टकरा जाता है,, क्या है मिस्टर लड़की देखी नहीं की बस ,, सॉरी वो मेरी ट्रेन जा रही है इसलिए ,, क्या सॉरी अच्छे से जानती हूं तुम जैसे लुच्छो को मै ,, कहा ना सॉरी अब बकवास बंद करो हटो जाने दो और वो जब तक पहुंचता है ट्रेन चल चुकी थी l

तो वो ट्रेन के तरफ दौड़ता है,, सिया ट्रेन में दरवाजे पर खड़ी होकर बाहर का नजारा देख रही थी ,, और तभी देखती है कि एक लड़का भागता हुआ आ रहा था ,, और वो उसकी तरफ हाथ बढ़ाता है ,,सिया भी अपना हाथ उसकी तरफ कर देती है और जैसे ही वो पकड़ने वाला होता है वो हाथ छोड़ देती है ।

और अन्दर चली जाती है वो जैसे तैसे ट्रेन में चढ़ ही जाता है,,और अपनी सीट देखता है ,, उसकी सीट भी सिया के पास ही थी,, और वो जाकर बैठ जाता है।

जब हाथ पकड़ना नहीं था तो दिया ही क्यों ,, तुमने मेरे से कुछ कहा क्या ,, नहीं आपसे नहीं कह रहा हूं भगवान से कह रहा हूं कि सबको अक्ल देनी चाहिए थी,, और सिया हसने लग जाती है।

वैसे एक बात बताओ चोर हो क्या शक्ल से तो नहीं लगते हो फिर भाग क्यों रहे थे,, इतना सा समझ नहीं आता क्या ट्रेन जा रही थी तो भाग रहा था।

पास ही दूसरी सीट पर एक लड़की बेटी थी ,, जी आपका नाम क्या है आप कहां जा रहे हो,, मेरा नाम जय है और मै दिल्ली जा रहा हूं,,सिया ये सुनकर सोचती है ये भी दिल्ली जा रहा है पर मुझे क्या है और वो बाहर देखने लग जाती है।

तभी दूसरी लड़की कहती है जी आपकी शादी हो गई क्या दिखने मै तो इतने अच्छे हो आप,, नहीं हुई है क्यों आपको करनी है क्या,, और ये सुनकर आसपास वाले सब हसने लग जाते है और सिया भी हंस रही थी तो वो उसको देख रहा था बहुत प्यारी मुस्कान थी और जैसे ही सिया का ध्यान उस पर जाता है वो अपनी नजरें दूसरी तरफ कर लेता है।

और जैसे ही वो लड़की अपना स्टेशन आते ही उतरती है तो जय,,सिया के सामने वाली सीट पर बैठ जाता है,,वैसे आप कहां जा रही हो ,, मै उत्तरप्रदेश जा रही हूं ,, पर ये ट्रेन तो दिल्ली जा रही है ,, तो फिर पूछ क्यों रहे हो चुप बैठो ना ,, अरे तुम भी क्या यार मैने तो सच में सोच लिया था कि ये यूपी जा रही है और मै गलत आ गया इसमें ,, और सिया हसने लग जाती है ,, अब चुप बेठो।

और जय मन में सोचता है कि ये तो बड़ी खड़ूस है। पर चलो कोई बात नहीं मजा आयेगा और सफर भी कट जाएगा।

तभी कुछ लोग वही पर आकर बैठ जाते है और सिगरेट पीने लगते है ,, तो सिया उन लोगो से परेशान हो जाती है पर कुछ कहती नहीं है पर जय सब देख रहा था।

तो वो उन लोगो के पास जाता है और कहता है कि आप कहीं और जाकर बैठ जाइए ना उनको तकलीफ हो रही है आपसे तो वो लोग कहते है दोस्त है क्या तेरी ,, हा मेरी दोस्त है,, ठीक है भाई हम कहीं और बैठ जाएंगे और वो चले जाते है।

और वो वापस आकर अपनी सीट पर बैठ जाता है ,,वो लोग कैसे चले गए तुमने कुछ कहा क्या उनको ,, नहीं वो तो अपनी मर्जी से ही गए है मेरा  कुछ नहीं है,, हा ठीक है बाय द वे मेरा नाम सिया है और मै भी दिल्ली ही जा रही हूं।

ओह अच्छा है,, आप वहां मतलब किसी काम से जा रहे हो क्या कहा पर रहोगे,, क्यु मेरे घर तक मेरा पीछे आना है क्या ,,अरे ऐसी बात नहीं है ,, मै मजाक कर रही हूं मेरे चाचा रहते है वहीं पर उनके पास ही रहूंगी।

ओके अब नीद आ रही है मै तो सो रही हूं तुम भी सो जाओ ,, नहीं मुझे नीद नहीं आ रही है अभी ,, ओक और वो सो जाती है ,, जय उसे सोते हुए देख रहा था और उसकी भी नीद लग जाती है।

और सुबह के पांच बजे थे जय उठता है और देखता है कि ट्रेन दिल्ली के रेलवे स्टेशन पर खड़ी थी ,, और वो सिया को उठाता है,, सिया उठो स्टेशन आ गया ,,अरे कहां आ गया मम्मी अभी सोने दो ,, तो जय हसने लग जाता है ये लड़की तो गजब है यार ,, अरे वो उसके मुंह पर पानी डाल देता है।।

हिम्मत कैसे हुई तुम्हारी ,, उधर देखी जल्दी उतरो यार अब पर मेरा सामान अरे मै ले आऊंगा सब ।

और वो नीचे उतरकर जय का वेट कर रही थी ,, वो भी कुछ ही देर में सामान लेकर आ जाता है।

अच्छा तुम कहा जाओगे अब ,, मेरे अंकल आने वाले है मेरा पापा के अच्छे दोस्त है यही पर रहते है ,, अच्छा तो ठीक है फिर ये लो मेरे अंकल आ गए ,, हा मेरे चाचा भी आ गए।

और वो दोनों एक ही आदमी के पास जाकर खड़े हो जाते है ,,ये तुम्हारे चाचा है ,, और तुम्हारे अंकल ,, तभी वो बोलते है अरे बेटा तुम दोनों साथ एक दूसरे को जानते हो क्या ,, नहीं अंकल बस ये तो मुझे ट्रेन में मिली है।

अच्छा हुआ अब दोनों घर चलो पूरी रात परेशान हो गए होगे ना ट्रेन में तो,, नहीं अंकल ये तो अपना घर समझकर बहुत सोई ट्रेन में भी ,, और सिया उसकी तरफ टेड़ा मुंह करती है ,,

अच्छा अब मजाक बंद करो और घर चलो गाड़ी वहां है में लेकर आता हूं अभी।

क्या बोल रहे थे तुम ,, हा तो सही ही तो बोला ,,तभी वो गाड़ी लेकर आ जाते है ,, क्या अब लड़ रहे हो क्या,, कैसे रहोगे एक साथ आ जाओ अब ,,और वो दोनों गाड़ी में बैठ जाते है........

पढे: Heart touching love story in Hindi (प्रेम कहानी)

2. sad story in hindi

                 (भाग 2)

अब आगे.....

बेटा तुम दोनों पीछे बैठ जाओ ,, नहीं चाचू मुझे आगे बैठना है ,,अंकल आगे ही बिठा लों इसके साथ कौन बैठेगा,,मुझे भी शौक नहीं तुम्हारे साथ बैठने का और तुम हमारे साथ आ ही क्यों रहे हो जब इतनी प्रॉबेलम है तो,, अरे बेटा तुम आ जाओ आगे ,, नहीं चाचू बैठ जाएंगे इसी के साथ हम,, कितनी खडूस है यार" प्रताप मन में कहता है"।

और दोनों एक दूसरे की तरफ मुंह करके बैठ जाते है,, बेटा घर आ गया अपना सामान ले लो दोनों,, हा अंकल मैने उठा लिया है चलो आप,, अरे बेटा सिया आओ ना,, चाचू बेग बहुत भारी है नहीं उठ रहा,, कोई बात नहीं तुम आओ में ले आऊंगा ,, अंकल आप चलिए में आता हूं उसको लेकर ,, हा बेटा ठीक है,, और वो बेग उठा लेता है चलो अब,, इतना सड़ क्यू रहे हो तो ,, अरे तुम चलो ना यार अब अंदर या फिर यही रहना है आज,, सिया हसंते हुए हा चलो चलो ,, और वो दोनों अन्दर जाते है ।

और अन्दर जाते है एक छोटी बच्ची सिया के गले लग जाती है दीदी आ गए आप,, मेरे लिए कुछ नहीं लाए,, अरे बेटा मै तो भूल गई,, कोई बात नहीं परी तुम्हारी दीदी भूल गई तो क्या हुआ तुम्हारे भईया तो लाए है ना अपनी परी के लिए चॉकलेट
देखो दीदी भईया लाए है और आप भूल गई,, अरे परी तुम्हारी दीदी ने ही याद दिलाया था मुझे ओक अब ये लो तुम्हारी चॉकलेट्स और जाओ खेलो मै अभी आता हूं और परी चली जाती है।

अंकल जी आंटी कहा है ,,वो अभी आती ही होगी तुम लोग दादी से मिल आओ पहले,, और हा सुनो तुम दोनों का एड्मिशन एक ही इंस्टीटयूट मै करवाया है क्युकी दोनों एक ही एग्जाम की तैयारी कर रहे हो मुझे अभी काम है शाम को मिलता हूं मै,,सिया तुम्हारी चाची आती ही होगी उनको बोल देना मै बाहर गया हूं,, ठीक है चाचू ।

और दोनों दादी के पास जाते है,,दादी आप तो पहले से भी यंग लग रहे हो क्या बात है,, कुछ भी बोलता है बदमाश कहीं का,, सिया केसी हो बेटी ,, मै ठीक हूं दादी इतने मै ही आंटी भी आ जाती है और दोनों उनसे मिलते है तुम दोनों थक गए होंगे हाथ मुंह धो लो मै खाना लगाती हूं ,, हा चाची ठीक है और चाचू बाहर गए है तो शाम तक आयंगे वो,, हा ठीक है बेटा तुम जाओ अब,,, परी भईया और दीदी को उनका रूम दिखा दो बेटा मुझे किचन मै काम है,, और परी उन दोनों को उपर ले जाती है और उनको उनका रूम दिखा देती है।

क्या जरूरत थी बच्ची से झूठ बोलने की कह देते भूल गईं में लाना और क्या ,, सिया कहती है!
छोड़ो ना यार बच्ची का दिल टूट जाता इसलिए बोला अब तुम भी थक गई होगी आराम कर लो,, और सिया बिना कुछ कहे अपने रूम मै चली जाती है।

थोड़ी देर बाद नीचे से आवाज आती है,, बेटा आ जाओ खाना रेडी है और वो दोनों नीचे आ जाते है,, खाना लग चुका है आ जाओ बैठो,, और सिया तुम्हारी चाचू ने बता दिया है ना कि तुम दोनों को साथ ही जाना है ,, चाची मै इसके साथ, खुद चली जाऊंगी पर इसके साथ नहीं जाउंगी,,मुझे भी शोक नहीं तुम्हें साथ ले जाने का,, मुझे तो कुछ कहना ही नहीं है तुम्हारे अंकल से ही बात करना तुम अब खाना खा लो,, और दोनों अपना अपना खाना फिनिश करते है और रूम मै चले जाते है

शाम का टाइम था और जय अपने रूम में बैठा हुआ था,, तभी अंकल आ जाते है,, अंकल आप, आईए ना,, देखो बेटा तुमसे एक बात कहनी थी सिया अब से तुम्हारे साथ जाएगी मै काम मै बिज़ी रहता हूं तो तुम्हे ही उसका ध्यान रखना पड़ेगा
अंकल आप टेंशन मत लो जब तक मै हूं उसको कुछ नहीं होगा आप नहीं भी कहते तब भी मै उसका ध्यान रखता,, ठीक है बेटा अब मै चलता है अपना ख्याल रखना बस यही कहना था,, ओक अंकल ठीक है।

कुछ ही देर में सिया भी वहां आ जाती है,, तुम भी यूपीएससी की तैयारी करने के लिए यहां आए हो क्या,, हा मैडम इसलिए आया हूं ,,और कुछ कहना है आपको,,ये सुनते ही सिया वहां से जाने लगती है,, अच्छा सुनो कल रेडी रहना अंकल ने बोला है कि उनको कुछ काम है तो मेरे साथ ही चलना है,, हा ठीक है और वो अपने रूम में सोने चली जाती है।

सुबह हो चुकी थी और सब उठ चुके थे पर सिया अभी तक नीचे नहीं आयी थी ,, सुनो परी बेटा इधर आओ,,,हा भईया बोलो ,, आपकी दीदी के पास जाओ और उनको उठाकर लाओ कहना कि सब नाश्ते के लिए उनका वेट कर रहे है ,, ठीक है भईया,, और कुछ ही देर में सिया भी नीचे आ जाती है

बेटा आज पहला दिन है तुम्हारा और प्रिपरेशन का भी पहला दिन है अच्छे से पढ़ाई करना दोनों अब नाश्ता कर लो और निकलो वरना लेट हो जाओगे,, ठीक है चाची और सभी नाश्ता करने लग जाते है,, आंटी अब हम चलते है ,, हा बेटा ठीक है सिया का ध्यान रखना,, मै अपना ध्यान खुद रख सकती हूं ये क्या रखेगा,, बेटा ऐसा नहीं बोलेते है ,, आंटी जी आप रहने दीजिए मै समझ गया,, मैडम चले अब आपकी परमिशन हो तो,, हा चलो।

और जय बाइक निकालता है,, तुम्हे चलानी तो आती है ना एक पता चले कहीं गिरा दिया,, सिया कहती है।

तुम बैठो ना यार कितनी बात करती हो,, और वो दोनों निकल जाते है,, चुकीं कोचिंग इंस्टी्यूट का फर्स्ट दिन था तो जय कहता है सृष्टि मेरी क्लास उधर है मै चलता हूं,, अच्छे से पड़ना ओक मिलते है फिर क्लास के खत्म होते ही।

और दोनों अपने अपने क्लास रूम में चले जाते है,, थोड़ी देर बाद सब कैंटीन मै आते है तो सिया भी आती है जय उसे दूर से ही देख रहा था ,, तभी एक लड़की उसके पास आती है ,,हाय मेरा नाम हनी है ,, तो क्या करू मै चाटू अपना काम करो जाओ,, और वो सिया को देख रहा था तभी एक लड़का उसके पास आया और उससे बदतमीज कर रहा था पर दूर से कुछ पता नहीं चला तो वो उसके पास गया तो उसने पूछा क्या हुआ सिया कोई प्रोबलम है क्या ,, नहीं यार कुछ नहीं है

ओके सिया ठीक है तुम क्लास मै जाओ अब और वो वहां से चली जाती है,,उसके जाते है जय उस लड़के का कॉलर पकड़ लेता है क्या बोल रहा था उससे तेरी हिम्मत भी कैसे हुई ,, देख अभी नया है अपनी हद में रह ,, तू मुझे अपनी हद मत सीखा समझा याद रखना दूर रहना सिया  से आसपास भी दिखा ना छोड़ूंगा नहीं और वो दोनों लड़ाई करने लग जाती है

एक लड़की क्लास मै जाकर कहती है सिया जो तेरे साथ लड़का आया था ना वो नीचे लड़ाई कर रहा है,,तो वो भगाकर नीचे जाती है और उसे रोकती है,, क्या लड़ रहे हो सिर्फ बात ही तो की है इसने,, और वो उसकी तरफ गुस्से देखता है पर उस कुछ नहीं कहता और टेबल पार हाथ मारकर वहां से चला जाता है,, मामला अब शांत हो चुका था।

और सब वहां से जा चुके थे ,,वो  उसके पास फर्स्ट्टेड बॉक्स लेकर जाती है जो अभी भी गुस्से में बैठा हुआ था और जाकर चुपचाप उसके हाथ पर दवाई लगाकर पट्टी कर देती है ,, क्या जरुरत थी ऐसे तो पता नहीं कितने लोग आयंगे और जाएंगे ऐसा नहीं करते है अब देखो है भगवान कितनी चोट लगा ली मुझे तो समझ ही नहीं आता है तुम्हारा,, मुझे नहीं पसंद कोई तुमसे बद्तमीजी करे और बात या तुम्हारी तरफ देखे,, अच्छा क्यों नहीं पसंद ,, तुम्हारी क्लास का टाइम हो गया है तुम जाओ मैं भी जा रहा शाम को वैट करूंगा आ जाना वरना निकल जाऊंगा अकेला,, और वो चली जाती है पर उसका गुस्सा अभी भी कम नहीं हुआ था ,, देख लूंगा उसे तो आज बच गया,, जय मन मै कहता है।

शाम हो चुकी थी और क्लास पूरी हो चुकी थी पर सिया अभी तक नहीं आई थी ,, पता नहीं कहां रह गई ये कब आयेगी कुछ हुआ तो नहीं ना,, और वो ये सब सोच ही रहा था कि सिया पीछे से उसको आवाज देती है,, आ गई मै क्या सोच रहे थे ,, अरे कुछ नहीं  तो चले फिर बैठो ,, हा चलो और वो थोड़ी ही दूर चलते है कि बाइक का पेट्रोल खत्म हो जाता है।

अरे पेट्रोल खत्म हो गया,, तो देखकर लाना चाहिए था ना बस आ गए ऐसे ही ,, अरे तो अंकल की बाइक है यार मुझे क्या पता ,, मुझे भी नहीं पता मै तो बैठकर ही जाऊंगी बस ।

ओके बैठी रही और वो बाइक को पैदल ही लेकर चलने लगता है वो बैठी हुई थी ,, कुछ ही दूर जाते है कि एक गाड़ी उनके पास आकर रुकती है,, क्या हुआ बेटा तुम ऐसे पैदल ,, अंकल कुछ नहीं बस पेट्रोल खतम हो गया तो ,, वो तो ठीक है पर हाथ मै क्या हुआ ,, कुछ नहीं बस ऐसे ही चोट आ गई ,, अच्छा अब बाइक को यही छोड़ो और गाड़ी में आओ दोनों ,, और दोनों गाड़ी में बैठ जाते हैं।

सिया सोच रही थी बेचारे के हाथ में लग गई मेरी वजह से और मैने पूछा तक नहीं एक बार भी ,, और जय आगे बैठा था तो
सिया तो उसका फेस मिरर मै दिख रहा है और वो अभी भी गुस्सा ही था,, और वो थोड़ी देर में घर भी पहुंच जाते है।

घर आते ही वो कहता है आंटी मुझे खाना नहीं खाना है मै उपर जा रहा हूं और वो ये बोलकर चला जाता है,, सब सिया को पूछते है आज तो पहला ही दिन था क्या हुआ ,, अरे कुछ नहीं हुआ और एक किसी को कुछ भी नहीं बताती है ,, चाची आप खाना लगा देना मै लेकर जाऊंगी कैसे नहीं खाता है में भी देखती हूं ,, तो दादी कहती है रहने दे बेटा वो गुस्से में नहीं सुनेगा किसी की ,, अरे दादी सब सुन लेगा चाची आप खाना दो मै लेकर जाती हूं ।

और सिया खाना लेकर उपर जाती है ,, और कहती है क्यों नहीं खाना है चुपचाप खा लो नाटक मत करो ,, कहा ना मुझे नहीं खाना है तुम जाओ अब यहां से,, क्या हुआ मेरी वजह से गुस्सा हो ना ,, अरे तुम्हारी वजह से नहीं हुआ यार अच्छा चलो खा लूंगा अब खुश ,, हा पर मेरे सामने खाओं अभी तुम
ठीक है मैडम और वो खाना खाने लगता है।

मै जा रही हूं अब मुझे पढ़ना भी है यार ,, अरे सुनो सिया मुझे मैथ्स मै कुछ नहीं आता यार तो हेल्प कर सकती हो क्या ,, सिया हसंते हुए कहती है पता था मुझे तुम डफर ही हो ,, अच्छा ठीक है मत करना मै खुद कर लूंगा ,, अरे मजाक किया था क्यू सड़ रहे हो ,, मै अभी अपनी बुक्स लेकर आती हूं साथ मै ही पढ़ लेंगे,, ओक मै आयी अभी।

continue:

पढे: love story in hindi (प्रेम कहानी)

3. sad love story in hindi heart touching

                    (भाग 3)

अब आगे......
सिया कुछ ही देर में अपनी बुक्स लेकर आ जाती है,, आ गई तुम ,, जब दिख रहा है तो पूछ क्यू रहे हो चलो अब पढ़ाई शुरू करे,, ओक मैडम ठीक है,, यार कितनी खडूस है ये,, जय मन में कहता है !

और दोनों पढ़ाई करने लग जाते है,, अच्छा यार सुनो ये मैथ्स का सवाल नहीं  आ रहा है,, हा ठीक है इधर देखो मै करती हूं फिर तुम करना,, और सिया उसको समझाती है और वो ध्यान से सुन रहा था तभी नीचे से आवाज आती है,, बेटा यहां आना और वो दोनों नीचे जाते है ,, क्या हुआ अंकल,, बेटा हम बाहर जा रहे है सब मूवी देखने तुम भी आओ ना ,, नहीं अंकल प्रीलिम्स का बस 1 महीना ही बाकी है हमें पढ़ना है
आप लोग जाओ,, हा चाचू ये सही कह रहा है आप जाओ!

ओके तो हम जा रहे है तुम लोग अच्छे से दरवाज़ा बंद कर लेना और लड़ना मत ठीक है ,, हा चाचू ठीक है,, और वो सब चले जाते है,, और वो दोनों भी वापस रूम में अपनी पढ़ाई करने के लिए चले जाते है!

अच्छा  तुम्हे कोई भी प्रॉब्लम हो तो पूछ लेना क्युकी बहुत कम टाइम बचा है हमारे पास अब से डेली ही पढ़ाई करनी पड़ेगी ,, हा सही कह रहे हो तुम!

थोड़ी देर बाद सिया को नीद आने लगती है ,, यार मै सो रही हो कल पढ़ंगे अब,, नहीं यार अभी आज का कंप्लीट नहीं हुआ है तुम रुको मै चाय बनाकर लाता हूं तुम्हारे लिए तब तक तुम ये सॉल्व कर लेना,, हा ठीक है!

और वो चाय बनाने चला जाता है ,,वो किचेन में ही था की लाइट चली जाती है,,यार ये लाइट कब आयेगी डर लग रहा है और ये डफर भी नहीं आया अभी तक,, सिया कहती है !

यार लाइट को भी अभी जाना था पर कोई बात नहीं चाय तो बन गई है ऊपर चलता हूं,,सिया भी अकेली ही होगी घर पर कोई भी नहीं है और वो ऊपर जाता है!

सिया को आवाज आती है ये कौन आ रहा है यार कई चोर तो नहीं आ गया ना ये डफर कहां रह गया अब ,,पर कोई बात नहीं इस चोर को पता नहीं है कि मै भी क्या चीज हू आने दो इसको अभी दिखाती हूं !

और वो देख लेती है अरे ये तो जय ही है चलो इसके मजे लेती हूं,, और वो डंडा लेकर बाहर जाती है ,,और जैसे ही वो उपर आता है,, तेरी हिम्मत कैसे हुई यहां आने कि तुझे क्या लगा कोई घर में नहीं है तो तू चोरी कर लेगा ,, अरे कैसी बात कर रही हो यार मै और चोर,, मुझे यार बुलाता है तेरी तो मै और इतने में ही लाइट आ जाती है ,, और पहले तो वो उसको  देखकर बहुत हंसती है,, कैसे खड़े हो यार एक दम बच्चे की तरह सच बताओ डर गए थे ना!

अरे तो ऐसे डंडा लेकर मारने आओगी तो डर ही जाऊंगा ना ,,  और किसी से तो नहीं डरते हो तुम मुझसे डर लगता है क्या ,, अरे ऐसी बात नहीं है और वो दूसरी तरफ मुंह करके
हंसने लग जाता है ,, अच्छा अब चलो छोड़ो चाय पियो और पढ़ाई करने लगते है !

पर यार नीद आ रही है ना ,, चुपचाप से पढ़ लो ना यार फिर सो जाना ,, हा हा ठीक है और वो दोनों पढ़ने लग जाते है कुछ देर बाद जय कहता है ,,अच्छा सिया अब तुम अपने रूम में जाकर सो जाओ रात बहुत हो गई बाकी का सुबह पढ़ लेंगे अपन ठीक है!

हा ठीक है और जाने लगती है तो रुक जाती है ,,अरे यार कोई नहीं है डर लगेगा नीचे तो परी भी गई है मै अकेली मतलब,, क्या सोच रही हो यार अब ,, अरे मै यही सो जाती हूं ना यार आज तुम्हे चलेगा क्या ,, पर तुम यहां कैसे सो सकती हो यार ,, क्यों नहीं सो सकती हूं यार तुम मुझे भगा रहे हो ना ,, ऐसी बात नहीं है थोड़ी देर में अंकल और बाकी सब आ जाएंगे क्या सोचनगे यार वो तुम अपने रूम में ही जाओ !

यार सोने दो ना ,, पर सिया यहां बेड पर जगह भी एक की ही है ,, मुझे नहीं पता बस यही सोना है ,, यार ये लड़की तो नहीं मानेगी ,, अच्छा तुम यहीं सो जाओ मैं बाहर जाकर सो जाता हूं ठीक है ,, पर बाहर तो बहुत ठंड है तुम्हे ठंडी लग जाएगी ,,

अरे कोई बात नहीं और वो कम्बल और तकिया लेकर बाहर जाने लगता है ,,अच्छा मै बाहर ही हूं कोई जरूरत पड़े तो बोल देना ,, हा ठीक है!

यार मेरी वजह से बाहर सो गया बेचारा और वो सो जाती है ,,
यार कैसे सोऊंगा मै यहां पर और वो नीचे ही सो जाता है पर नीद नहीं आती ,, यार मच्छर खा रहे है यार कहां फंस गया मै ,, पर उसे भी नहीं पता चलता कि उसे कब नीद आ जाती है!

रात में सभी घर वाले आ गए थे पर सब थक गए थे तो सब अपने रूम में जाकर सो गए,, और जैसे ही सुबह आंटी जी चाय देने आयी तो जय रास्ते में ही सो रहा था ,, अरे बेटा उठो ,, उठो बेटा यहां क्यों सो रहे हो तुम ,, अरे आप कब आयी आंटी जी ,, मै तो अभी आयी पर तुम बताओ यहां क्यों सो रहे हो तुम,, क्या बताऊं वो सिया से पूछो आप अंदर सो रही है मेरी तो गर्दन बहुत दर्द कर रही है और रात मै मच्छर ने मेरा सारा खून पी लिया आंटी जी अब देखना आप खून कि कमी हो जाएगी!

और वो हंसने लग जाती है ,, सुबह सुबह मजाक कर रहे हो चलो अब उठ जाओ और चाय पी लो अच्छा लगेगा तुम्हे और बेटा सिया को चाय दे देना मुझे नीचे बहुत काम है ,,अब उसको चाय भी मै ही दू शाम सुबह( मन में कहता है ) हा ठीक है आप जाओ!

और वो सिया के रूम में जाता है चाय लेकर तो वो अभी तक सो रही थी ,, ये तो कुंभकरण की भी मां लगती है यार अभी तक सो रही है देखो ,,अरे सिया उठो यार सुबह हो गई है तो वो बेड पर ही बैठ जाता है ,, और दिया उसको नीद मै ही लात मार देती है और उसके ऊपर अपना पर रख लेती है!

है प्रभु बचाओ मुझे इससे ,, और वो जोर से कहता है सिया उठो ,, और वो अचानक जाग जाती है ,, अरे डफर मेरे कान के पर्दे फाड़ दिए ,, और तुमने क्या किया एक तो पूरी रात मच्छर खा गए बाहर मुझे और मेरी कमर अभी तक दर्द कर रही है और यहां तुम्हे चाय देने आया तो लात मार दी ,, ये लो चाय तुम्हारी और अब बात मत करना मेरे से तुम ठीक है जा रहा हूं मै ,, और वो ये सब बोलकर नीचे चला जाता है!

ये अभी तक ही बच्चा ही है गुस्सा तो देखो इसका और वो ये सब सोचकर मुस्कुरा देती है और चाय पीने लग जाती है,, और कुछ देर में नाहकर नीचे आती है!

जय पहले से ही वहां पर था और उसके आते ही मुंह फेर लेता है ,, देखो तो सही परी तुम्हारे भईया का गुस्सा और हंस देती है ,, आंटी देखो ना दोनों मुझे देखकर हंस रही है ,, अरे बेटा तू खाना खा वो बस मजाक कर रही है,, और सब खाना खाने लग जाते है!

अच्छा सिया चले टाइम हो गया क्लास शुरू ही होने वाली होगी,, हा ठीक है ,, और वो दोनों निकल जाते है ,, रास्ते में एक क्लॉथ शोरूम आता है तो सिया कहती है चलो ना यार ,, तुम्हे कुछ लेना है क्या ,, अरे लेना कुछ नहीं है बस मजे लेंगे ,, क्या यार वो दुकान वाला बाहर फिकवा देगा अपन को ,, अरे चलो ना यार ,, ओक ओक चलो तो फिर!

और वो दोनों अन्दर जाते है ,, और दुकानदार उनका वेलकम करता है ,, आइए सर आइए मेम,, बोलिए क्या दिखाऊं आपको,, जो भी ये मैडम कहे वो दिखा दो भईया,, ओक ठीक है सर,, और वो सिया को कपड़े दिखाने लगता है 2 घंटे हो चुके थे पर उसे कुछ पसंद नहीं आ रहा था ,, तो वो भी परेशान हो जाता है मैडम सब तो दिखा दिया लेना क्या है आपको ,, जय  मन मै सोचता है ये तो रोने लग जाएगा यार अब ,, तो वो कहता है सर आपको उधर बुला रहे है शायद तो वो वहां पर चला जाता है

सिया भाग लो यहां से अब इससे पहले कि वो रोने लग जाए बहुत हो गया मजा ,, और वो दोनों बाहर आकर पेट पकड़कर बहुत हंसते है ,, यार ये क्या पागलपंती की हमने ,, अरे पर बहुत मजा आया यार,,क्या मजा आया वो थोड़ी देर में तो रोने लग जाता यार और उसको पता लगता कि हमने मजाक किया है तो बाहर उठाकर फिकवा देता दुंकान से हमको ,, और वो अभी तक हंस रहे थे!

अच्छा सिया अब चले देर हो रही है यार ,, और एक दोनों क्लास के लिए निकल जाते है .......!

पढे:: true love story in hindi (प्रेम कहानी)

4. Sad love story in Hindi

यार लेट हो गए हम आज तुम्हारी वजह से पर कुछ भी कहो वो दुकान वाला तो रो देता थोड़ी देर में ,,,हा अब ज्यादा दांत मत फाड़ो तुम देर नहीं हो रही है क्या अब ,,, हर टाइम लड़ लो बस तुम तो लो आ गए हम और हा शाम को जल्दी आना तुम्हे कुछ बताना है ,, हा ठीक है ,, और वो दोनों अपनी क्लास में चले जाते है!

शाम हो चुकी थी और जय उसका वैट कर रहा था आयी नहीं यार ये अभी तक पता नहीं कहा रह गई और इधर से उधर घूम रहा था तभी सिया आ जाती है,, क्या हुआ तुम्हे ऐसे क्यू घूम रहे हो ,, अच्छा हुआ तुम आ गई चलो अब जल्दी ,, अरे पर चलना कहां है ये तो बता दे पहले ,, चल ना यार कितने सवाल करती हो और वो उसका हाथ पकड़कर ले जाता है!

दोनों एक सुनसान जगह पर जाते है ,, सिया  पूछती है यहां क्यों आए यार हम कितनी सुनसान जगह है ,, बताता हूं और वो दोनों बाइक से उतरकर किसी जगह पर बैठ जाते है!

अब बताओ भी क्या हुआ ,, हा सुनो कल रात यहीं एक लड़की ने मेरे हाथो में दम तोड दिया ,, क्या कह रहे हो तुम,, हा सही कह रहा हूं मै कल रात को मुझे कॉल आया था इस लड़की का ,, पर तुम उसे कैसे जानते हो ,, वो भी हमारे शहर से ही है और उसे पता था कि मै यहां आने वाला हूं ,, पर उसके साथ हुआ क्या उसने तुम्हे कुछ बताया!

इस शहर मै बहुत सी अनजानी मौते हो रही है इनका कुछ पता नहीं है ये लड़की अकेली नहीं है ऐसे मरने वाली,, करीब हर उम्र का सक्श लड़का , लड़की सब इसी तरह से मारे जा रहे है और कोई है जो इनसे ये सब करवा रहा है!

पर यार हमको पता कैसे चलेगा वो लड़की तो मर गई है,,पर कुछ तो करना पड़ेगा ना ऐसे लोग मर रहे है पता नहीं क्यों ,, पर कोई तो है जो इन सबको मजुबुर कर रहा है ये सब करने के लिए बस एक बार हाथ लग जाए वो मेरे छोड़ूंगा नहीं उसे मै ,,  हा पर अब क्या करे उस लड़की ने कुछ कहा तुमसे ,, उसने मुझे बस ये हार्ड डिस्क दी है अब इससे पता करना है जो भी करना है!

फिलहाल घर चलना चाहिए यार रात भी बहुत हो गई है ,, अरे रुको ना सुनसान सड़क है और देखो चांद और तारे भी है ,, हा तो रात में यही सब होता है और क्या होगा और वो हसने लग जाता है,, और थोड़ी दूर जाकर कॉल करता है अरे सुन तू कहां है अभी ,, बस आ ही रहे है ,, हा तो मै यहां सुनसान वाले रास्ते पर हूं तुम लोग आओ ,, और वो थोड़ी देर में आ जाते है ,, हा बोल यार क्या हुआ ,, हुआ कुछ नहीं है मेरी बाइक ले जा और घर में रख देना ,, पर तू कैसे आयगा फिर,, अरे तू जा ना फोकट बाते मत किया कर और वो चले जाते है

अरे सिया सुनो चले अब ,, पर यार वो बाइक ले गए,, हा तो तुम्हे पसंद है ना पैदल रात में सुनसान सड़क पर चलना तो घर भी दूर नहीं है चलो पैदल ही चलते है आज ,, और सिया ये सुनकर बहुत खुश हो जाती है,, हा चलो ठीक है और जय उसका हाथ पकड़ लेता है और उसको धक्का देता है ,,
तो सिया हंसते हुए कहती है क्या कर रहे है पागल!

थोड़ी देर में घर आ जाता है,,सिया सुनो घर पर कह देना बाइक खराब हो गई थी वरना दादी तो पता नहीं यार कहेगी रात में ज्यादा हीरो बन रहा था क्या तू ,,,तुम्हे डर लग रहा है ना और वो जोर से हंसती है ,, अब चलो भी मैडम और सिया उसका हाथ पकड़कर कहती है ,, थैंक्यू सो मच यार,,अरे अब ये क्या है ये सब मत बोला करो तुम बस मुझे परेशान किया करो ,, वो तो करती ही हूं मै तभी परी उनको देख लेती है और कहती है मम्मी भईया और दीदी आ गए है ,,और वो दोनों अन्दर जाते है !

बेटा आज इतना लेट कैसे हो गए,, वो चाची बाइक खराब हो गई थी तो ,, हा कोई बात नहीं अब हाथ मुंह धो लो खाना लग गया है तुम्हारे चाचा भी आते ही होंगे!

थोड़ी देर बाद सब खाने की टेबल पर मिलते है,, एक बात बताओ,, हा दादी पूछो ना जब तेरी बाइक खराब थी तो तेरा दोस्त लेकर कैसे आया,, अरे दादी पैदल लाया होगा बेचारा ,,और सिया थोड़ा सा मुस्कुरा जाती है ,, तू क्यों हंस रही है अब ,, अरे दादी सही बोल रहा है ये बच्चे पर शक मत करो आप ,, अरे बेटा तू कह रही है तो मान लेती हूं ,, हा उसकी बात ही सुनो सब मै तो कुछ  नहीं ना ,, अरे तू तो प्यार बच्चा है अब खा ले खाना फालतू नौटंकी मत कर,, और सबको हंसी आ जाती है!।।

सिया तुम खाना खाकर मेरे रूम में आ जाना पढ़ाई करनी है ,,हा ठीक है मै आ जाऊंगी ,, और वो कुछ ही देर में आ जाती है हा बताओ आज क्या पढ़ना है हमें!

सिया आओ बैठो,, अब ये हार्ड डिस्क से ही पता करना है कि हो क्या रहा है ,, पर यार ये काम तो हैकर लोग कर सकते है हम कैसे कर पाएंगे ,, अरे तुम टेंशन मत लो सब आता है मुझे और वो कंप्यूटर मै हार्ड डिस्क लगा देता है ,,अब बस हमको इसके आईपी एड्रेस की जरिए इसका पासवर्ड पता करना है !

और वो बहुत कोशिश करता है पर पासवर्ड मैच नहीं होता है और फिर गुस्से मै बैठ जाता है ,, अरे यार फिर से ट्राई करो तुम करो लोगो,, और वो उसके कहने पर एक बार फिर अपनी चेयर को उस तरफ मोड़ता है और फिर से ट्राई करता है और पासवर्ड इस बार मैच हो जाता है ,, ओह yehhh कर लिया हो गया सिया ,, हा तो अब देखी क्या है इसमें,, हा रुको देखता हूं मै!

और उसके अंदर कुछ विडियोज थे जिनको देखकर वो दोनो शॉक्ड हो जाते है ,, ओह माय गॉड यार ये सब क्या है ,,यही सब है सिया ये लोग इनको पहले कहते है कि उस आदमी को मार दो और फिर जब ये उस आदमी को मार देते है तो फिर ये लोग इनको धमकी देते है कि तुम्हारे परिवार वालो को मार देंगे जिससे ये लोग या तो सुसाइड कर रहे है या फिर उनके हाथों मारे जा रहे है!

पर यार ये सब कैसे करते है ये लोग उनको कैसे पता लगता है ,, ये सब हैकर है जो कि मास्टरमाइंड है और इन सबके पीछे कोई बड़ा हाथ है और अभी तो हमे कुछ पता ही नहीं है यार ,, जब तक पुलिस को पता चलेगा की ये सब ही रहा है तब तक बहुत लोगों की जान जा चुकी होगी!

सही कह रहे हो पर हम क्या करे ,, कुछ तो करना पड़ेगा यार फिलहाल तो पढ़ाई कर लेते है और वो दोनों पढ़ने बैठ जाते है और सिया को नीद आ जाती है वहीं पर पढ़ते पढ़ते तो जय उसे जागता नहीं है बस उसको अच्छे से वही पर सुला देता है और खुद तकिया और चादर लेकर बाहर चला जाता है सोने!

सिया की नीद सुबह ही खुलती है ,, और वो कहती है शिट यार यही नीद लग गई मेरी पर ये डफर कहां गया यार और वो बाहर जाकर देखती है तो वो वहीं सोया था और सिया के आते ही उठ जाता है ,, ओह यार उठ गई तुम अच्छा हुआ,, मै तो उठ गई पर तुम क्यों यहां पर बाहर सो रहे हो ,, अरे वो तुम्हारी नीद लग गई थी तो मैने नहीं जगाया फिर यार ,, अरे तो पागल जगा देते ना दो दिन से बाहर ही सो रहे हो!

छोड़ो ना यार जाने दो अब ,, अब तुम भी चलो नीचे चाची बुला रही है ,, हा अपना हाथ दो उठा नहीं जा रहा है और सिया अपना हाथ देती है,, पर वो उसके सीने पर ही गिर जाती है और वो दोनों एक दूसरे को देख रहे थे ,, कुछ देर बाद सिया उठती है तुमने जानबूझकर किया ना सब पता है मुझे ,, अरे सच्ची यार कसम से मैने जानबूझकर नहीं किया वो गलती से हो गया सॉरी यार ,, अरे डफर मजाक कर रही थी अब उठो और नीचे आ जाना ठीक है मै जा रही हूं,, और वो सीढ़ियों पर से नीचे जाकर बहुत हंसती है ये भी ना पागल ही है ,, कैसे बोल रहा था सॉरी यार मैने नहीं किया!

जय भी मुस्कुरा रहा था ये लड़की भी ना यार और फिर उठता है और नीचे चला जाता है!    

पढे:: Romantic love story in hindi   

5. Sad hindi love story

अब आगे......

नीचे दोनों नाश्ते की टेबल पर मिलते है,, और सब नाश्ता करने लग जाते है पर आज सब शांत था कोई बोल ही नहीं रहा था ,, थोड़ी देर बाद जय कहता है सिया बाहर आ जाना मै इंतज़ार कर रहा हूं ,, हा ठीक है आती हूं तुम चलो!

और थोड़ी देर बाद ही वो बाहर आ जाती है,, ओह आ गई चलो चलते है फिर और वो दोनों क्लासेस के लिए निकल जाते है,,सिया तुम आज शाम को घर जल्दी चली जाना मेरा वेट मत करना मै लेट आ पाऊंगा ,, ठीक है पर तुम कहां जा रहे है ,, अरे बस ऐसे ही कहीं नहीं तुम चली जाना बस और वो अपनी क्लास के लिए चला जाता है!

सिया सोच रही थी पता नहीं क्या हुआ है आज और वो भी चली जाती है,,थोड़ी देर बाद सब कैंटीन मै मिलते है जय वहीं बैठा था और एक लड़की आती है,, हाय मेरा नाम हनी है ,,तो मै क्या करू चाटू अपना काम करो ना फालतू दिमाग क्यू खराब कर रही है और वो उठकर जाने लगता है तो सिया को देखता है!

अरे ये किस पर गुस्सा कर रही है यहां पर,, और वो उसके पास जाता है,, पर उसके आते ही वो वहां से चली जाती है!

शाम का वक्त हो चुका था पर सिया ने सोचा वो तो चला गया होगा तो वो इसलिए जल्दी ही आ गई और घर के लिए निकल रही थी कि तभी जय वहां आ जाता है,, अरे आ गई तुम चलो चलते है,,पर तुमने तो कहा था मेरा वैट मत करना फिर क्या हुआ तुम गए नहीं ,, अरे यार तुम चलो ना ,, हा ठीक है पर चलना कहां है यार,, अरे कितने सवाल करती है चलो अब!

थोड़ी ही दूर जाते है कि सड़क पर कुछ हल्ला हो रहा था,, तो वो दोनो वहां जाते है कि क्या हुआ तो वहां पर किसी का एक्सिडेंट हुआ था और वो मौत भी उसी तरीके से हुई थी जय सब देख ही रहा था अचानक सामने वाले बिजली के खंभे में शॉर्ट सर्किट होता है और एक तार टूटकर सीधा सिया की तरफ आ रहा था जय उसको कहता है हटो वहां से पर उसका ध्यान नहीं था वो दूसरी तरफ देख रही थी!

वो सिया के सामने आकर खड़ा हो जाता है,,सिया सामने देखती है तो तार गिरने ही वाला था,, वो उसको जोर से पकड़ लेती है,,  पास ही एक टायर पड़ा हुआ था जय उसको सामने वाले खंभे पर फेंककर मारता है और और लाइट चली जाती है और वो उस तार को हाथ से पकड़ लेता है,, और फिर सिया को कहता है अरे सुनो कुछ नहीं हुआ है चले अब सब ठीक है!

दिया उसको बहुत डांटती है,, क्या जरूरत थी ये करने के तुम्हे कुछ हो जाता तो तुम्हे कुछ समझ ही नहीं आता है मुझे बात ही नहीं करनी है तुमसे जाओ अकेले मै खुद चली जाऊंगी ,,, अरे यार मेरी बात तो सुनो तुम कुछ नहीं हुआ है मुझे सब ठीक है गुस्सा मत करो अब यार,, डफर कहीं का सुनता ही नहीं है ,, अरे मैडम प्लीज़ ना मान जाइए ना ,, और वो हसने लग जाती है ,, हा ऐसे ही रहा करो चले अब ,,, हा ठीक है चलो!

रात हो चली थी और थोड़ा अंधेरा हो चुका था खुली सुनसान सड़क और ठंडी हवा चल रही थी जिससे सिया के बाल उसके चहरे पर आ रहे थे और वो उनको बार बार हटा रही थी!

जय साइड मिरर में उसको देख रहा था,, और अचानक से ब्रेक मारता है तो सिया सीधा उसको पकड़ लेती है,, जानबूझकर ब्रेक मारा ना तुमने सब जानती हूं मै लड़को की आदत ऐसी ही होती है ,, अरे यार क्या कह रही हो वो सामने कुछ आ गया था सॉरी यार ,, अरे मजाक कर रही थी पागल ,, क्या यार तुम भी और वो हंसने लग जाता है!

थोड़ी दूर जाकर वो बाइक रोक देता है,, और सिया को कहता है कुछ देर  यही पर बैठे क्या यार ,, वो कहती है बहुत अच्छी जगह है सामने एक नदी बह रही थी और आसपास बस शांति थी कोई नहीं था बस हवा चल रही थी,, और वो दोनों वहीं बैठ जाते है!

जय वहीं पर बैठकर पानी में पत्थर फेक रहा था,,और सिया उसको देख रही थी तभी सिया कहती है चलो डफर एक गेम खेलते है किसका पत्थर दूर जाता है ,, हा खेलते है मेरा ही जाएगा दूर देख लेना ,, और जैसे ही  सिया फेक्ती है जय बस उसको देख रहा था और फिर वो कहती है तुम भी चलो अब और फिर वो भी फेक्ता है तो सिया कहती है में जीत गई कहा था ना हार जाओगे तुम ,, और वो कुछ नहीं कहता बस उसको देख रहा था कि वो कितनी खुश है!

चले अब घर पर सब वैट कर रहे होंगे,, हा ठीक है चलो और वो थोड़ी देर में घर पंहुच जाते है,, घर जाते है सब पूछते है कहा थे बेटा आज इतनी देर केसे कर दी आने मै ,, अरे आंटी बस कुछ नहीं वो ट्रैफिक ज्यादा था आज इसलिए लेट हो गए ,, अच्छा ठीक है हाथ - मुंह धो लो मै खाना लगा देती हूं !

हा ठीक है और वो दोनों चले जाते है ,, जय अपना खाना जल्दी फिनिश करके उपर छत पर चला जाता है,, और सोच रहा था कि क्यू वो खुश होती है तो मै खुश होता हूं,, उसकी सारी मजाक मस्ती भी अच्छी लगती है ,, पास नहीं होती तो डर लगता है कि क्या हो गया वो ठीक तो है ना और बस वो यही सब सोच रहा था कि सिया आ जाती है!

क्या सोच रहे हो यार चलो पढ़ाई नहीं करनी है क्या बस परसो प्री का एग्जाम है याद है ना और तुम यहां सोच मै डूबे हुए हो ,, हा यार पता है ,, क्या पता है और वो उसका हाथ पकड़कर उसे रूम ले जाती है!

और दोनों ही पढ़ने बैठ जाते है ,, सिया तुम्हारा पूरा सिलेबस हो गया ना ,, हा पूरा हो गया बस अब रिवीजन करना बाकी है डर लग रहा है यार पता नहीं क्या होगा ,, अरे यार सब ठीक होगा टेंशन मत लो,, हा सही कहा तुमने ,,अच्छा सिया रुको और वो वापस अपना कंप्यूटर ओपन करता है ,, ओह गॉड ये क्या हो गया यार ,, क्यू क्या हुआ!

उन लोगो ने हमको हैक किया है अब हमारी सारी डिटेल्स उनके पास है ,, यार अब क्या होगा,, कुछ नहीं होगा यार तुम फिक्र मत करो मै सब देख लूंगा!

उधर उन लोगो को पता चल चुका था और उनका बॉस कहता है अब मरने वाली अगली लड़की यही होगी और ये लड़का मुझे चाहिए किसी भी हाल में अब देखता हूं कैसे बचा पाएगा ये इसको हम लोगो को हैक करके अपने आप को बड़ा जिनियस समझ रहा था,, इस लड़की की सारी डिटेल्स निकालो अब इसका फैसला मै करूंगा!

सिया यार अब तुम अपने रूम में जाकर सो जाओ आज के लिए इतना ही काफी है यार,, बस अब दो दिन और क्लासेस है फिर नहीं ,, हा ठीक है गुड नाईट सो जाओ तुम ,, और वो भी उस गुड नाईट बोल देता है!

6. Hindi love story sad

अब आगे.....

सब उठ चुके थे सुबह हो गई थी पर सिया अभी तक सो रही थी ,, बेटा ये सिया तो आयी ही नहीं मै जाती हूं इसको उठाकर लाती हूं ,, नहीं आंटी आप रहने दो मै जाता हूं ना मै ले आऊंगा उसको ,,, और वो उसके रूम में जाता है वो अभी भी सो रही थी थोड़ी देर उसको देखता रहता है बस फिर याद आता है कि इस कुंभकर्ण को जगाना भी है अभी तो यार कहीं वापस लात ना मार दे,, और वो उसके पास जाता है,, यार कितना सोती है ये,, सिया उठो यार सुबह हो गई है आंटी बुला रही है तुम्हे नीचे,,और वो दूसरी तरफ करवट लेती है कोंन है यार और जय के गाल पर पड़ जाती है एक ,, अबे उठो क्या हाथ पैर चला रही हो नीद मै,,और वो उसका कम्बल खीच देता है,, और उसकी नीद खुल जाती है,, तुम यहां तुम्हारी हिम्मत भी कैसे हुई मुझे जगाने की ओर वो उसका हाथ पकड़ लेती है तो जय उसके उपर गिर जाता है!

अब जय उसके उपर था और दोनों एक दूसरे की आंखों मै देख रहे थे,, सिया ने उसका हाथ पकड़ा हुआ था थोड़ी देर बाद वो छोड़ देती है ,, अरे हटो अब डफर,, हा वो गलती से हो गया सॉरी यार,, क्या गलती से सब जानती हूं मै बस बहाना चाहिए होता है तुम्हे तो करीब आने का ,, अरे सच कह रहा हूं यार कसम से गलती से हो गया ,, अरे हा पागल मजाक कर रही हो बताओ सुबह- सुबह मेरे रूम में कैसे आने हुआ,, बस तुम्हे देखने आया था सोते हुए कितनी प्यारी लग रही थी ऐसा मत सोचना तुम आंटी ने कहा था सिया को बुला ला इसलिए आया था ,,, हा ठीक है कह दो आ रही हो और वो चला जाता है ,,, झूठा कहीं का दिल में कुछ और जुबान पर कुछ और ,, और वो हंसने लग जाती है और नहाने चली जाती है !

कुछ देर बाद वो नाहकर नीचे आती है ,, अरे बेटा आ गई तू इतना लेट ,, हा चाची वो नीद ही नहीं खुली रात मै स्टडी की था ना तभी जय बीच में बोल जाता है ,, मैने भी की थी स्टडी पर मै तो उठ गया ,, तुम ज्यादा ना बोलो डफर कहीं का,, अरे लड़ना नहीं अब बेटा चलो नाश्ता कर लो अब ,, काहे का नाश्ता आंटी सुबह - सुबह इसने दिया नाश्ता तो एक तो जगाने गया उपर से रेपट मार दी मेरे इसने नीद मै!

सिया बेटा गलत बात है ,, अरे चाची वो गलती से हो गया ,,हा और जब मैने कहा गलती से हो गया तो बोली नहीं जानबूझकर कर किया है तुमने तुम्हे तो बहाना चाइए करीब आने का अब बोलो ,, चलो ठीक है सॉरी!

हा जाओ जाओ माफ किया तुम भी क्या याद रखोगी,,देखो चाची अब ये डफर ज्यादा बोल राह है ,, अरे सिया मजाक कर रहा था मै भी अब नाश्ता कर एक बात बतानी है तुझे मेरे साथ आ ठीक है मै रूम में हूं ,, हा तुम चलो मैं आती हूं!

कुछ देर में सिया रूम में आ जाती है,,अच्छा बताओ क्या हुआ है ,,, हमारा एग्जाम है परसो और सेंटर आया है जयपुर मेरा तो घर वहीं है पर तुम कहां रहोगी यार ,, अच्छा अब क्या करू कोई ना किसी होटल मै रह लूंगी ,, अरे नहीं मेरे होते हुए वहां क्यों रहना है और फिर एक तुम टाइम पर नहीं पहुंची तो ,, तुम मेरे साथ ही रहोगी जब तक एग्जाम नहीं हो जाता ,, पर यार कैसे ,, अरे मेरे घर पर रह लेना सिम्पल,, और फिर तुम मम्मी को क्या जवाब दोगे ,, अरे उनको तो पता ही नहीं लगने दूंगा मै की कोई लड़की आयी है घर में ,,अच्छा डफर और पता चला तो ,, तो क्या हम दोनों घर से बाहर सड़क पर,, और वो दोनों हंसने लग जाते है ,, अरे मै हूं ना यार मेरे रहते हुए तुम्हे कोई कुछ नहीं कहेगा,, हा डफर पता है मुझे!

अच्छा अब ये बताओ जाना कब है ,, दिया आज ही चले शाम को रात तक पहुंच जाएंगे अपन,,हा ठीक है पर यार सोच लो तुम्हारे घर ,, अरे कोई ना तुम मेरे रूम में रह लेना मै बाहर सो जाऊंगा 1 दिन की ही तो बात है फिर दूसरे दिन आ जाएंगे वापस अपन,, हा ठीक है यार पर अब पढ़ ले,, सिया जितना पढ़ लिया उतना ठीक है अब तुम बस रेडी हो लो निकलना है मैने अंकल को सब बता दिया है ओक ,, हा ठीक है तुम जाओ अब ,, पर मै क्यु जाऊ,, अरे डफर रेडी होना है तुम जाओगे तभी तो होऊंगी ना ,,, अच्छा ठीक है जाता हूं !

शाम हो चुकी थी और हल्की सी ठंड थी और हवा चल रही थी ठंडी,, जय उसका बाहर वैट कर रहा था कि कब आयेगी यार इतनी देर हो गई और वो उसका आवाज देता उससे पहले ही वो जाती है ,,, उसकी जुल्फे हवा के झोंके से उसके चहरे पर आ रही थी ,, और वो उसके पास आकर कहती है चले डफर ,, तो वो कहता है हा चलो ,, तभी घर वाले भी आ जाते है बेटा अच्छे से जाना और सिया का ध्यान रखना,, आप चिंता मत करो अपनी जान से भी ज्यादा इसका ख्याल रखूंगा मै ,, हा बेटा जाओ अब अच्छे से पेपर देना,, हा ठीक है और वो निकल जाते है!

साइड मिरर मै जय सिया को देख रहा था और अब रात हो चली थी ,, तभी सिया कहती है पेट्रोल तो है ना वरना उस दिन की तरह पैदल चलना पड़े तुम्हे क्युकी मै तो नहीं चलने वाली ,, अरे हा यार और अगर खत्म भी हो गया तो उठाकर ले चलूंगा बस ,, और उसके चहरे पर एक मुस्कान आ जाती है!

तभी वो देखता है कि कुछ लोग बहुत देर से उसकी बाइक का पीछा कर रहे है,,  सिया सुनो मुझे अच्छे से पकड़ लेना,, अरे पर मै नहीं गिरने वाली,, अरे यार ये लड़की भी ना और वो उसके दोनों हाथो को लेकर उसको आगे खीच लेता है अब पकड़ो और वो उसे बाहों में भर लेती है और अपना सर उसका कंधे पर रख देती है ,,, अब वो बाइक को फूल स्पीड मै भगा रहा था ,,सिया आंखे बंद कर लेती है और उसको और जोर से पकड़ लेती है!

तभी जय देखता है कि वो आ रहे है पीछे और कहता है अब आयेगा मजा ,,और सामने एक ब्रिज था वो उसकी तरफ ही बाइक ले जा रहा था ,,तभी सिया कहती है पागल हो क्या गिर जाएंगे अपन ,, अरे कुछ नहीं होगा तुम अपनी आंखे बंद कर लो दुबारा,, और सिया उसको पकड़ लेती है वापस तभी वो पीछे देखता है,, हा आ रहे है कमिने आओ आओ ,, और जैसे ही वो और करीब आते है वो बाइक के एकदम से ब्रेक मार देता है और दूसरी तरफ मोड़ देता है ,, और वो लोग सीधे ब्रिज से टकराकर नीचे गिर जाते है और अब वो बाइक रोक देता !

सिया बाइक से उतर जाती है ,,मुझे नहीं जाना तुम्हारे साथ कैसे चलाते हो कुछ हो जाता तो ,, अरे सुनो तो सही यार कहां जा रही हो ,, नहीं अब मै नहीं जाऊ और वो वहीं पर मुंह फुला कर बैठ जाती है!

अरे मेरे होते हुए तुम्हे कुछ नहीं हो सकता मै हूं ना,, अब चलो घर भी जाना है हमें ,, हा ठीक है डफर चलो अब ,, पर
ये लोग कोन थे यार,, अरे छोड़ो ना चलो अब देखो ठंडी लग रही तुम्हे और वो अपनी जैकेट उसे दे देता है

अच्छा अब चले सर्दी बहुत तेज हो गई यार,, हा चलो पर तुमने घर तो बता दिया ना कि हम आ रहे है,, नहीं घर पर बस ये पता है कि में आ रहा हूं तुम्हारे बारे में नहीं पता है कुछ भी ,, फिर यार मै कहां रहूंगी पर,, अरे तुम फ़िक्र मत करो मै हूं ना किसी को पता नहीं चलेगा तुम मेरे रूम में रह लेना ,, और अगर पता चला तो,, तो क्या यार मेरी मम्मी हम दोनों को घर से बाहर का रास्ता दिखा देगी वो सोचेगी की लड़की को भगाकर लाया है ये! और सिया हंसने लग जाती है,,फिर तो यार खतरा है मुझे यही छोड़ दो तुम दोनों को भगा दिया तो कहां जाएंगे अपन!

अरे पागल पहली बात तो पता ही नहीं चलेगा और चल भी गया तो मै बोल दूंगा यार की एग्जाम है और मेरी दोस्त है तो ले आया घर अब अनजाने शहर में लड़की कहां रहती अकेली और हा अब थैंक्यू मत बोलना बचपन से ही स्मार्ट हूं मै पर कभी घमंड नहीं किया ,, ओह स्मार्ट कहां से दिख रहा मुझे तो नहीं दिखा ,, तुम तो डफर हो और वही रहोगे!

7. Sad love story in hindi

हा बस तुम यहीं बोलो,, और नहीं तो क्या बोलूं फिर सड़ क्यू रहे हो ,, अरे यार जो बोलना है बोलो तुम बोल सकती हो वरना और का तो मुंह तोड़ दू मै,, ओह इतना गुस्सा,, छोड़ो ना यार गुस्से को मारो गोली,, हम जयपुर मै एंट्री कर गए है और बजे है रात के 12 सब सो गए होंगे घर में और अब तुम्हे अंदर भी लेकर जाना है!

देखो अगर पकड़े जाएं तो बोल देना कि ,, मेरे अंकल तुम्हारे चाचा है और एग्जाम देने आयी हो ,, नहीं बाबा मै तो ये बोलूंगी की ये लड़का मुझे घर से भागकर लाया है और वो हसने लग जाती है ,, क्या यार जूते मारेगी मम्मी मुझे,, अरे बाबा मजाक कर रही हो ,, मै भी मजाक जी कर रहा था मै कोनसा सीरियस हूं अच्छा अब घर आने ही वाला है!

देखो पक्का सब सो ही रहे होंगे यार तो तुम आवाज मत करना,, मै कहां आवाज करती हूं तुम इल्जाम लगा रहे हो ,, अरे ठीक है यार अभी लड़ना नहीं है,, मै बाइक खड़ी कर देता है तुम थोड़ी देर वैट करो अभी आया मै,, हा ठीक है!

और वो थोड़ी देर में आ जाता है ,, अब यार ऐसा करो मेरे पास घर की चाबी है तो मै दरवाज़ा खोलता हूं तुम पहले मेरे रूम में चली जाना ताकि कोई उठ जाए तो मै ही दिखु,, पर मुझे केसे पता तुम्हारा रूम कोनसा है ,, अरे वो सामने है ना वहीं है और हा ध्यान से दीदी उठ गई ना तो सब कबाड़ा हो जाएगा यार ,, अच्छा ठीक है मै जा रही हूं,,और वो रूम मै चली जाती है,, पर जैसे ही हलचल होती है तो जय की मम्मी बाहर आती है!

अरे बेटा आ गया तू बता तो देता की आ रहा है ,, मम्मी बस आ गया कल एग्जाम है ना इसलिए ,, और अभी थक गया हूं तो सोने जा रहा हूं कल जल्दी भी उठना है,,वो तो ठीक है बेटा जी पर ये लड़की का स्कार्फ तेरे गले मै क्या कर रहा है ,,और कोन्न आया है साथ मै ,, अरे ये सिया भी क्या करती है यार अब क्या बोलूं( जय मन मै सोचता है ) !

अरे मम्मी बस वो दीदी के लिए लाया था मै तो गले मै डाल लिया मैने और क्या ,, अच्छा ठीक है जा अब सो जा ,, और वो रूम मै जाता है तो सिया वहां पर बहुत हंस रही थी मम्मी वो मै दीदी के लिए लाया वाह डफर,, हा हंस लो तुम अभी पता चल जाता ना फिर घर से बाहर अपन दोनों ,, अरे यार बस ऐसे ही सॉरी तुम्हे बुरा लगा क्या ,,अरे पगली मजाक कर रहा था यार अब ये सब छोड़ो तुम बहुत थक गई होगी सो जाओ और हा कोई भी जरुरत हो तो मुझे जगा लेना!

हा तुम भी सो जाओ ,, पर तुम सोवगे कहां ,, अरे मै छत पर सो जाऊंगा तुम आराम से सो जाओ ना यार ,,पर मै अकेली कोई आ गया तो क्या जवाब दूंगी मै,,अच्छा रुको मै एडमिट कार्ड देख लू यार,, हा ठीक है!

और वो बहुत देर तक देखता है ,, क्या हो गया डफर इतना भी क्या देख रहे हो ,, बहुत बड़ी गलती हो गई यार एग्जाम तो परसों है कल नहीं मैने जल्दीबाजी मै ठीक से देखा ही नहीं,, यार ये क्या क्या किया अब क्या होगा मतलब कल पूरा दिन यह रहना पड़ेगा अब तो कोई नहीं बचा सकता है यार कल सबको बताना ही पड़ेगा!

,, अरे ऐसा कुछ नहीं होगा अब तुम सो जाओ मैं ऊपर जा रहा छत पर ,, अरे डफर कितनी सर्दी है बाहर पता है ना ठंड लग जाएगी ,, यही सो जाओ ,, ठीक है मै यही सो रहा हूं और हा बाहर जाओ तो जगा लेना मुझे वरना तुम्हे चोर समझकर पीट देंगे सब,, और वो हंसने लग जाता है,, अब दांत ना फाड़ो ज्यादा पहले तो ठीक से देखा नहीं की एग्जाम डेट क्या है डफर कहीं का,, ओ मेडम जी आपका हो गया हो तो सो जाओ ना यार आराम से अब वैसे ही कल क्या करना है सोचना पड़ेगा और हा मेरे ऊपर मत गिर जाना रात मै नहीं तो मै तो गया उपर सीधा,, ठीक है अब सो जाऊं,, शैतान बच्चा कहीं का ( सिया मन में कहती है ) !

और वो दोनों सो जाते है,, तभी कॉल रिंग करता है और जय कॉल रिसीव करता है ,, यार कोन है रात को भी चैन नहीं आता क्या तुम्हे बको अब जल्दी से सोना है मुझे ,, किससे बात कर रहा है जानता है तू ,, अबे इतनी रात को ये बताने के लिए कॉल किया गधा कहीं का ,, तूने हमको हैक किया था ना अब जिंदा नहीं बचेगा तू ,, अबे फोन रख रात मै कुत्ते बहुत भोक रहे है मेरे यहां मुझे मारने आया है,, अबे तेरे को दौड़ा दौड़ा कर मारूंगा अगर रात को परेशान किया तो फिर ,, तुझे जब मुझे मारना हो तो आ जाना मेरे घर अभी सोने दे और वो कॉल कट कर देता है!

पता नहीं यार फालतू लोगो को और कोई काम नहीं होता क्या इन बातो के सिवा सोने भी नहीं देते और वो वापस सो जाता है,, थोड़ी देर बाद सिया उसको वापस जगा देती है उठो ना यार मुझे पानी पीने जाना है,, अरे तो चली जाओ पानी पीकर आओ मुझे क्यों जगा रही हो ,, पर किसी ने देख लिया तो,, अरे रात मै सब सोते है कोई नहीं आ रहा है तुम बिंदास होकर जाओ ,, अच्छा जा रही ,, अरे रुको मैं ही जाता हूं परेशान हो जाओगी तुम आया अभी थोड़ी देर में!

और वो कुछ देर में पानी लेकर आ जाता है ,, ये लो पानी और पीकर सो जाओ ,, और वो दोनों सो जाते है!

Next morning....

अरे डफर उठ जाओ बाहर मम्मी आवाज दे रही है,, अरे सोने दो यार तुम भी सो जाओ और वो उसका हाथ पकड़ कर अपनी ओर खीच लेता है और अब वो उसके सीने पर थी और उसकी जुल्फे जय के चहरे पर और दोनों एक दूसरे की आंखों मै देख रहे थे,, तभी फिर बाहर से आवाज आती है उठ जा बेटा कब तक सोएगा तेरा तो एग्जाम है ना आज ,,, और वो एकदम से उठता है!

ओ तेरी की मम्मी बाहर है और अब अंदर आयेगी ऐसा करो बेड के नीचे छुप जाओ तुम आवाज मत करना मै गेट खोलता हूं,, हा ठीक है और वो बेड के नीचे छुप जाती है!

जय दरवाज़ा खोलने जाता है ,, अरे मम्मी एग्जाम कल है वो मैने अच्छे से देखा नहीं था,, हा बेटा ठीक है पर तू अंदर कर क्या रहा था ,, अरे मम्मी सो रहा था अभी उठा हूं आपने आवाज़ दी तो ,, अच्छा अब ऐसा करो फ्रेश हो जा फिर नाश्ता कर लेना ,, मै जा रही अब मुझे काम है ,,हा ठीक है मम्मी ,, तभी सिया जोर से चिल्ला देती है,, ये तेरे कमरे मै लड़की की आवाज कोन है अंदर सही बता ,, अरे मम्मी कोई नहीं है ,, तू हट जा मै खुद देख लूंगी अब........!

पढे:: short Love story in hindi

Sad love story in hindi: कहानी का पहला भाग आपको कैसा लगा आप मुझे कॉमेंट करके जरुर बताएं मै आपके कॉमेंट का इंतज़ार करूंगा!!
दूसरा भाग पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे :: CLICK HERE

Tages: Sad love story in hindi, Sad hindi love story, very sad love story in hindi, hindi sad love story, hindi love story sad



              


एक टिप्पणी भेजें

Do not enter any spamming comment