Motivational Story In Hindi For Students | मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर स्टूडेंट्स

Motivational Story In Hindi For Students | मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर स्टूडेंट्स

Motivation Story For Student In Hindi:

हेल्लो studends आज मै आपके लिए एक Motivational Story In Hindi For Student लेकर आया हूं ये कहानी आपको एक ऐसी सीख देने वाली है जो आप जिंदगी मै हमेशा याद रखोगे तो शुरू करते है बिना किसी देरी के।।

Overview:

  • Motivational Story In Hindi For Student
  • Inspirational Story For Students In Hindi
  • Motivational Short Story For Students In Hindi

Motivational Story In Hindi For Student

Motivational Story In Hindi For Student

सुबह हो चुकी थी ..आँखे खुली तो देखा सुबह के 5.30 बजे थे ..हॉस्टल में अभी भी शांति थी ..मैं उठी और खिड़की खोली तो वो होस्टल के कंपाउंड में खुली जहाँ बास्केट बॉल का ग्राउंड था ।

मैं उबासियाँ लेते हुए बाहर निकली ..और वाशरूम से बाहर आके कंपाउंड में घूमने लगी । अभी भी पूरी होस्टल में कोई नहीं उठा था ।

दो चक्कर लगाने के बाद गार्ड अंकल आ गए तो वो बाहर से ही बोले :: गुड मॉर्निंग बेटा ..यहाँ क्यों घूम रही बाहर चली जाओ !

मैं उनके पास जाते हुए बोली :: नहीं अंकल बस थोड़ा घूम के फिर असाइनमेंट कम्पलीट करने है ।

लेकिन फिर नहाने औऱ असाइनमेंट करने के बाद भी ब्रेकफास्ट के लिए टाइम था तो मैं पार्क में चली गयी । सुबह सुबह वहाँ कोई नहीं था ..बस हल्की हल्की सी धूप थी ।

थोड़ि देर वार्मअप करने के बाद मैं बोटल से पानी पीते हुए  मार्बल से बनी हुई चेयर पे बेठ गयी ।
कुछ बुजर्ग वहाँ घूम रहे थे और हँसी मजाक का दौर चल रहा था ।

मैं अपने आप से ही उलझी हुई थी कि ," आज हम आगे बढ़ने की दौड़ में इस तरीके से भाग रहे है कि जिस पल में जी रहे है उसमें हो क्या रहा है वो भी हमें नहीं पता । लाइफ में ब्रेक लेना भी जरूरी है ..ये भी हम लोगों ने नहीं समझा ! बस चलते जा रहे है ..किस दिशा में वो भी हमे नही पता ।
इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हमें बैठ के सोचना भी चाहिए कि हम क्या कर रह है ..हमने वो भी नहीं सोचा ।

इन सबके बीच टाइम देखा तो आठ बज चुके थे ..टाइम तो अपनी ही रफ्तार से चलता है वो किसी के लिए नहीं रुकता ..इसलिए मैं भी हॉस्टल में चली गयी ।ब्रेकफास्ट करने के बाद मैंने यूनिफार्म पहनी ..और हमेशा की तरह रूममेट को टाई पहनाई ..जैसे मुझे शु लेस टाइटली बांधना नही आता उसे टाई बांधनी नहीं आती ।

हम दोनों ने जल्दी से बैग लिया और सारी फाइल्स लेके कॉलेज पहुँचे । बायोमेट्रिक एंट्री के बाद लगतार साइंस की क्लासेज ले चुके थे ।असाइनमेंट सब्मिट करा चुके थे ।

इन्हें भी पढ़े
Love story in hindi ( बेपनाह मोहब्बत)
Heart touching love story
Funny love story in hindi
Romantic Love story in hindi

Motivational Story In Hindi For Student

प्रेजेंटेशन भी दे दिया और ये बस कुछ घंटों में हो गया ..यानी टाइम की रफ्तार के साथ चले ।लेकिन मशीन नही इंसान ही है और गलती तो होगी ही और वो ही मुझसे हुआ ..केमिस्ट्री की लैब में थकान की वजह से सोडियम का बॉक्स पानी में गिर गया जिसकी छोटी छोटी गोलियां बनाई हुई थी ..और जैसा कि पता है सोडियम पानी में गिरेगा तो ब्लास्ट होगा और वो ही हुआ ।

मैन जल्दी से बॉक्स को उठाया और सोडियम की गोलियों को बाहर निकाला ...और थक के चेयर पे बैठ गयी ..मैं ऐसी तो कभी नही थी जो इतने से हालातों से हार जाए पर कुछ तो अजीब हो रहा था मैं खुद से ही लड़ने लगी ।

मेरी केमिस्ट्री की मैम पास आई और बोली :: व्हाट हैपन..तबियत ठीक नहीं है क्या ..बिकॉज़ तुम तो कोई गलती नहीं करती हो ऐसी ।

मैंने बस "ठीक हूँ" जो हमेशा बोलती हूँ वही बोला !

मैम ने सोचा मेरी तबियत ठीक नही इसलिए उन्होंने मुझे क्लास में जाने दिया।

क्लास में बैठ के भी परेशान थी तो ict रूम में चली गयी जहाँ कोई नहीं था । लेकिन थोड़ि देर बाद फिजिक्स की मैम आयी :: है तुम यहाँ कैसे बैठी हो ..मैं वो सेमेस्टर के सिलसिले में तुमसे कुछ बात करने वाली थी ।

मैं उठ के उनके पास चाली गयी :: यस मैम बोलिये ना .!
मैम मुझे देख बोल पड़ी :: तबियत ठीक नही है क्या ..चेहरे की रंगत ठीक नही है ।

मैं हँस पड़ी :: ममता मैम भी यही बोल रही थी बट रियली आई एम फाइन !
मैम फिर बोली :: देख के लग तो नही रहा । अच्छा तुम्हारी फाइल्स रेडी है ना मुझे प्रोजेक्ट पे सिग्नेचर करने है ।

मैन हाँ में जवाब दिया और जाते जाते बोली :: फोन और सोशल मीडिया की इस दुनिया में हर कोई बुरी तरीके से खोया है ..लाइब्रेरी चली जाओ तुम्हें अच्छा लगेगा ।

मैंने उन्हें थैंक्स बोला  और लाइब्रेरी  में गयी और मेरी फेवरेट "हैरी पॉटर" सीरीज के नॉवेल पढ़ने लगी!

एक घण्टे बाद बाहर निकली अब  अच्छा फील हो रहा था ।
होस्टल जाने के बाद खाना खाया और कुछ देर आराम करने के बाद फिर से बुक्स में लग गयी । शाम के 4.30 हो गए थे मन किया फ़ोन चैक कर लूं ..लेकिन फिर हाथ वापिश खींच लिया और बाहर आ गयी ।

इन्हें भी पढ़े
Love story in Hindi
Horror story in Hindi
Cute Love Story in Hindi
Emotional love story in Hindi

Motivational Story In Hindi For Student

वार्डन मैम का छोटा लड़का अकेले बास्केटबॉल खेल रहा था पर बॉल उससे नेट में नहीं जा रही थी ।

मैं उसके पास गई और उसे उठा लिया औऱ उसने बॉल नेट में डाल दी वो बहुत खुश था।

वो खुश होते हुए बोला :: दिदी आपकी तो इतनी ज्यादा हाइट है ..मेरी कब होगी ।

उसकी मासूमियत पे मुझे हँसी आ गयी और उसके बालो को बिगाड़ते हुए उससे कहा :: जल्दी हो हो जाएगी ..अगर मम्मा को तंग नही करोगे और बिना रोये दूध पी लोगे।

हमारी वार्डन मैम बहुत अच्छी है उन्होंने किसी को कुछ करने के लिए नहीं टोका सिवाय रूल्स को ना मानने के ।

तभी मैम भी रूम से बाहर आ गयी और मुझे आवाज़ दी तो मैं उनके पास गई और वो बोली :: आज सिर्फ तुम अकेली ही बाहर हो.. रोज तो कोई नही होता।

मैंने कुछ सोच के कहा :: सबको बुला लेते है ..क्यों ना पार्टी लाइक कुछ हो जाये। म्यूजिक सिस्टम भी बेचारा धूल फांक रहा है ।

मैम :: कोई फायदा नहीं ये सब शाम के प्रेयर के टाइम भी मुश्किल से आती हैं यँहा तक कि बाहर से दूसरी लड़कियों से लॉक लगवा लेती है ।

मैंने काफी देर सोचा पर कुछ करना तो था इसलिए कॉमन रूम से म्यूजिक सिस्टम को उठाया और कंपाउंड में लगा दिया और सांग लगा के माइक को आगे रख दिया ..इस वजह से पूरी होस्टल में जोर से सुनाई दे रहा था ।

धीरे धीरे सब फोन की दुनिया से बाहर निकली और बाहर आई

एक सीनियर दिदी ने कहा :: अरे यार आज कौनसी पार्टी है ..ना तो कोई फ्रेशर है ना न्यू ईयर न दीपावली ना कोई त्योंहार तो फिर ये सब।

मैंने उन दिदी से कहा :: अच्छा दिदी आप फोन पे कितने टाइम सिर्फ सांग सुनती है और चिल आउट करती है ।

उन्होंने सोच के कहा : शायद दो घंटे ।

" तो फिर ये दो घंटे हम सब साथ मिल के चिल आउट कर सकते है और बाकी के हमारी जिंदगी जीने को ..शायद लाइफ की जो दौड़ है वो एंटरटेनमेंट के साथ ज्यादा अच्छी हो जाये ।

सब इस बात से सहमत थी और सबने ये तय किया कि सब शाम के दो घंटे एक दूसरे को देंगे ।

उस शाम हमारी होस्टल में अलग ही चहल पहल थी ..जो होस्टल हमेशा अपने बंद कमरों में रहता था वो अब सब के लिए खुला था ..कुछ मिल के पढ़ रहे थे कुछ बातें कर रहे थे ..और इनके साथ ही चल रहा था हमारा ..

# livinglife...

मोटिवेशनल स्टोरी इन हिंदी फॉर स्टूडेंट्स: दोस्तो आपको ये कहानी Motivational Story In Hindi For Students कैसी लगी और इस कहानी से हमें क्या सीख मिलती है आप मुझे कॉमेंट करके जरूर बताएं आपका बहुत बहुत शुक्रिया

इन्हें भी पढ़े:
Sad love story (दुःख भरी प्रेम कहानी)
Love story in Hindi ( मीरा और एसीपी कबीर )
Short Love story in hindi (मेरी मोहब्बत)
True love story in hindi ( ये प्यार है)

एक टिप्पणी भेजें

Do not enter any spamming comment